Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार पूर्णिया‘शांति और मोक्ष पाने के लिए सत्संग से जुड़ें

‘शांति और मोक्ष पाने के लिए सत्संग से जुड़ें

हिन्दुस्तान टीम,पूर्णियाNewswrap
Fri, 03 Dec 2021 04:02 AM
‘शांति और मोक्ष पाने के लिए सत्संग से जुड़ें

रूपौली। एक संवाददाता

प्रखंड के डोभामिलिक पंचायत में संतमत सत्संग का पंचायत स्तरीय 15 वां वार्षिक अधिवेशन 02 और 03 दिसंबर को पंचायत के डोभा गांव में आयोजित किया जा रहा है। संतमत सत्संग के 15 वाँ वार्षिक अधिवेशन के पुनीत अवसर पर महर्षि मेंही आश्रम कुप्पाघाट भागलपुर से पूज्यपाद गुरु सेवी स्वामी भगीरथ जी महाराज एवं अन्य वरिष्ठ साधु, महात्माओं का पदार्पण एवं अमृतम प्रवचन से पूरा क्षेत्र सत्संगमय हो गया है। मुख्य प्रवचनकर्ता मंचासीन परमपूज्य भागीरथ जी महाराज गुरुदेव महर्षि मेंही की मुख्य वाणी ईश्वर एक है एवं ईश्वर तक पहुंचने का रास्ता भी एक है को स्मरण स्तुति कर प्रवचन का शुरुआत किया। उपस्थित सत्संग प्रेमियों को संबोधित करते हुए कहा कि विश्व शांति, सुख के निमित्त सदभावना के लिए संतों के सानिध्य और सन्मार्ग पर चलने मात्र से संभव है। जब तक मानव जाति का आध्यात्मिक स्तर ऊंचा नहीं होगा ,तब तक समाज की सदाचारिता ऊंची और प्रखर नहीं होगी। जब तक सदाचारिता ऊंची नहीं होगी तब तक सामाजिक नीति, शांति और आनंददायक नहीं होगी। अध्यात्मिकता मानव समाज की शक्ति का प्रधान श्रोत होता है। ईश्वर को पाने का सत्संग ही एक मात्र उपाय है । ज्ञान की प्राप्ति बिना सत्संग के संभव नही है। शांति और मोक्ष पाने के लिए सत्संग से जुड़ना पड़ेगा और संतों की बात का अक्षरश: पालन करना होगा। बिना सत्संग के यह जीवन अधूरा हो जाता हैं। इस अवसर पर नरेशानन्द बाबा,स्वामी गंगाधर बाबा, ज्ञान शेखर बाबा आदि सहित कई वरिष्ठ महात्मा मंचासीन हो अपने प्रवचन, अमृतवाणी से सत्संग प्रेमियों पर ज्ञान की गंगा बरसाए। कार्यक्रम में काफी संख्या में सत्संग प्रेमियों में सहित सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

epaper

संबंधित खबरें