ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार पूर्णियाआरसीडी को 25 सड़कें ट्रांसफर, 12 निगम ने बनाई, 13 अभी भी बची

आरसीडी को 25 सड़कें ट्रांसफर, 12 निगम ने बनाई, 13 अभी भी बची

प्लान पूर्णिया, वरीय संवाददाता। शहर में कुछ बदहाल सड़कों के बनाने से पहले यह जानना जरूरी हो जाता है कि आखिर इसका वारिस कौन है? बीस फीट से अधिक...

आरसीडी को 25 सड़कें ट्रांसफर, 12 निगम ने  बनाई, 13 अभी भी बची
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,पूर्णियाMon, 01 Aug 2022 12:12 AM
ऐप पर पढ़ें

पूर्णिया, वरीय संवाददाता।

शहर में कुछ बदहाल सड़कों के बनाने से पहले यह जानना जरूरी हो जाता है कि आखिर इसका वारिस कौन है? बीस फीट से अधिक चौड़ी सड़कों को बनाने की जिम्मेवारी आरसीडी को दी गयी है। कुछ सड़कों में एनएच और एनएचएआई का पेंच फंस जाता है। कुल मिलाकर जर्जर सड़कों के जीर्णोद्धार की राह आसान नहीं दिख रही है। कुछ सड़कों के दिन जरूर बदले हैं। मधुबनी मौलवी टोला से कोर्ट स्टेशन होते हुए जनता चौक रोड के दिन बहुरे हैं। दशकों से जर्जर सड़क का काम चल रहा है तो लोगों ने राहत की सांस ली है। मधुबनी की सड़कें दुरुस्त हुई हैं। एनएचएआई के द्वारा मधुबनी से मरंगा तक बायपास बनाने के बाद इसे आरसीडी को हैंडओवर किया जाएगा। आरसीडी के द्वारा पिछले दिनों कचहरी से मरंगा तक सड़कें बनाई गई हैं। दूसरे चरण में मरंगा से पॉलीटेक्निक चौक तक सड़क बनाने के लिए प्रस्ताव विभाग को भेजा गया है। इसी तरह फोर्ड कंपनी से मरंगा तक सिक्स लेन रोड भी एनएचएआई से आरसीडी को हैंडओवर करने के बाद इसे सिक्स लेन बनाया गया है।

पूर्णिया नगर निगम के अधीन आधी दर्जन सड़कें भी अपनी किस्मत बदलने का इंतजार कर रही है। सबसे बदतर हालत डॉलर हाउस चौक, पुलिस लाइन रोड, बहुमंजिला मार्केट से टैक्सी स्टैंड रोड, रजनी चौक से नेवालाल रोड, बाड़ीहाट लक्ष्मी मंदिर से खीरू चौक, एसएसबी आफिस के सामने वाली रोड की है। इस रोड का कोई रखवाला नहीं है। नगर निगम के मुताबिक 20 फीट से अधिक चौड़ी होने के कारण इन सड़कें को पथ निर्माण विभाग (आरसीडी) को हैंडओवर किया जा चुका है, लेकिन आरसीडी की वित्तीय स्थिति खस्ता होने के कारण इन सड़कों को कोई वारिस नहीं है। नगर आयुक्त आरिफ अहसन ने स्वयं इन जर्जर सड़कों की हालत देखी है। उनके मुताबिक 20 फीट से चौड़ी 25 सड़कें आरसीडी को हैंडओवर की गयी है। इन सड़कों को आरसीडी को बनाना है। इसके बावजूद 25 सड़कों में 12 सड़कें निगम के द्वारा बनवाई गई हैं। 13 बची हैं। इसे भी जल्द बनाई जाएंगी। उन्होंने कहा रजनी चौक रोड जल्द बनेगी। इसके लिए टेंडर भी जारी कर दिया गया है। डॉलर हाउस चौक रोड भी जल्द मोटरेबुल बनाई जाएगी।

...जलापूर्ति योजना और मोबाइल कंपनी भी सड़कों को पहुंचा रहे नुकसान :

मोबाइल कंपनियों के द्वारा केबल डालने का काम कई सड़कों पर किया जा रहा है। इससे भी सड़कों का सीना छलनी हो रहा है। काम खत्म करने के बाद इन सड़कों को दुरुस्त नहीं की जा रही है। इसी तरह जलापूर्ति योजना ने शहर के 46 वार्डों के कमोबेश सभी गलियों व सड़कों को नुकसान पहुंचाया। इसकी भरपाई अभी तक नहीं हो पायी है। कई बार हादसे भी होते हैं। इस पर ध्यान देने की जरूरत है।

epaper