Whose participation as much share as you get Tejashwi - जिसकी जितनी भागीदारी, मिले उतनी हिस्सेदारी : तेजस्वी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिसकी जितनी भागीदारी, मिले उतनी हिस्सेदारी : तेजस्वी

जिसकी जितनी भागीदारी, मिले उतनी हिस्सेदारी : तेजस्वी

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि जब 50 प्रतिशत आरक्षण की सीमा खत्म हो गई तो इसे शतप्रतिशत कर देना चाहिए। जिसकी जितनी आबादी है उसे उतनी हिस्सेदारी दे देनी चाहिए। सभी दलों को मांग करनी चाहिए कि विधानसभा में चुनाव ईवीएम से नहीं बल्कि बैलेट से हो। लोकसभा चुनाव में भी जनता हमारे साथ थी। ईवीएम से हमें हराया गया है।

नेता प्रतिपक्ष ने शनिवार को बापू सभागार में महागठबंधन के कार्यक्रम में कहा कि अब एकजुट होने और संघर्ष करने का समय है। सभी संस्थाएं एक पार्टी के प्रकोष्ठ के रूप में काम कर रही हैं। ऐसे में हमारे पास संघर्ष के अलावा कोई रास्ता नहीं है। एनडीए को हराना है तो अहम छोड़कर त्याग भी करना होगा। जो दल जहां मजबूत है वह वहां चुनाव लड़े। कहा कि लालू प्रसाद ने कभी मनुवादियों से समझौता नहीं किया। हम भी उन्हीं के पुत्र हैं। भाजपा से बात करने की अफवाह सत्ता में बैठे लोग उड़ाते हैं। लेकिन हमने साफ कर दिया है कि भाजपा से समझौता का तो कोई सवाल ही नहीं है। जनतंत्र की हत्या करने वालों के लिए भी दरवाजा बंद है।

अमृत पी लें आप, हम विष पीने को तैयार : उपेन्द्र

रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि महागठबंधन समुद्र मंथन में लगा है। सभी नेता ईगो छोड़ने की बात कर रहे हैं। मैं वादा करता हूं कि मंथन में निकले अमृत कोई भी पी ले, हम विष पीने का तैयार हैं। वह बापू सभागर के कार्यक्रम में अध्यक्षीय भाषण दे रहे थे। उन्होंने कहा कि गोडसे के समर्थक किस मंशा से आज गांधी का नाम लेते हैं, देश जान रहा है। जनता का ध्यान मौलिक समस्याओं से हटाने के लिए सब कुछ चल रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहले हर कार्यक्रम में विशेष दर्जे की बात करते थे। डबल इंजन की सरकार है तो चुप हैं।

जतीय जनगणना की रिपोर्ट सार्वजनिक हो : मांझी

हम प्रमुख जीतनराम मांझी ने मांग की कि केन्द्र को जतीय जनगणना की रिपोर्ट को सार्वजनिक करना चाहिए। आरक्षण की सीमा भी जनसंख्या के हिसाब से तय हो। उन्होंने कहा कि अमीर और गरीब के लिए एक जैसी पढ़ाई नहीं होगी तो देश आगे नहीं बढ़ेगा। अभी कुछ लोग पैसे के बल पर शिक्षा ले लते हैं। गरीब देखता रह जाता है। आज 85 प्रतिशत लोगों के लिए 49.5 प्रतिशत आरक्षण है। ऐसे में आधा लाभ सिर्फ 15 प्रतिशत लोगों को मिलता है। शिक्षा के बिना जातीय व्यवस्था नहीं खत्म होगी।

विपक्ष स्वयं को छोड़ें तो भाजपा का नाम मिट जाएगा : कांग्रेस

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा और पार्टी सांसद अखिलेश सिंह ने कहा कि देश में संविधान पर खतरा है। विपक्षी दलों पर तो मुकदमे किये जा रहे हैं। भाजपा में दो के सिवा किसी को बोलने का हक नहीं है। हमलोग स्वयं को छोड़ देश के बारे में सोचें तो केन्द्र व राज्य दोनों जगहों से भाजपा का नाम मिट जाएगा। वीआईपी अध्यक्ष मुकेश सहनी ने कहा कि दो दिन की वर्षा ने 15 साल के विकास की पोल खोल दी। हम सही नीयत से काम करें तो अगली सरकार महागठबंधन की होगी।

एनडीए को हराना है तो एक मंच पर आना होगा

वाम दलों में सत्यानारायण सिंह ने कहा कि एनडीए को हराना है तो एक मंच पर आना होगा। राजाराम सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार संघ के एजेंडों को लागू करने में लगी है। अवधेश कुमार ने भी केन्द्र सरकार पर हमला करते हुए विपक्षी एकजुटता की सलाह दी। कार्यक्रम का संचालन राजद के प्रदश अध्यक्ष डॉ. रामचन्द्र पूर्वे ने किया। अब्दुलबारी सिद्दिकी, वृशिण पटेल, भूदेव चौधरी, राजेश यादव, शिवचन्द्र राम और संतोष कुशवाहा ने भी विचार रखे।

पकिस्तान सत्ता पाने को सिम-सिम का दरवाजा बना : शरद

राजद नेता शरद यादव ने कहा कि देश अंधेरे में है। ऐसा अंधेरा 70 साल में कभी नहीं दिखा। लोहिया जातिविहीन समाज चाहते थे। अभी लड़ाई संवैधानिक संस्थाओं के साथ संविधान और वोट बचाने की लड़नी है। भारत की आबादी 130 करोड़ है। इतने लोग पैदल चले जाएं तो पाकिस्तान पर कब्जा हो जाएगा। लेकिन उस पाकिस्तान का भय दिखाकर लोग राज कर रहे हैं। पाकिस्तान सत्ता पाने को सिम-सिम का दरवाजा हो गया है। अगला चुनाव और खराब होने वाला है। संघर्ष अनवरत करना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Whose participation as much share as you get Tejashwi

'हिन्दुस्तान स्मार्ट' अख़बार की कॉपी पाने के लिए, नीचे दिए फॉर्म को भरे

* आपके द्वारा दी गयी जानकारी किसी से साझा नहीं की जाएगी व केवल हिन्दुस्तान अख़बार द्वारा आपसे संपर्क करने के लिए इस्तमाल की जाएगी।