DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हमें भारत की विविधता का उत्सव मनाना चाहिए : प्रणब मुखर्जी

हमें भारत की विविधता का उत्सव मनाना चाहिए : प्रणब मुखर्जी

पूर्व राष्ट्रपति डॉ. प्रणब मुखर्जी ने पटना में कहा कि इंडिया क्या है? आंखें बंद करने पर 130 करोड़ लोग ध्यान में आते हैं। सभी मुख्य धर्म को मानने वाले। 122 भाषा। 1600 बोलियां बोलने वाले। तीन एथनिक समूह- द्रविड़, आर्य और मंगोलियन। सब अलग-अलग लेकिन एक धागे से बंधे हुए। यही विविधता हमें एकसूत्र में बांधे हुए है। हमें भारत की इस विविधता का उत्सव मनाना चाहिए। वह सोमवार को होटल मौर्य में एलएन मिश्र कॉलेज ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट, मुजफ्फरपुर के समारोह में बोल रहे थे। 

प्रणब मुखर्जी ने कहा कि देश के सामने नयी चुनौतियां - बेरोजगारी, कुपोषण, प्रदूषण, अशुद्ध पानी और शिशु तथा मातृ मुत्यु दर में वृद्धि के रूप में आ रही हैं। इन्हें सुधारने की चुनौती युवाओं के सामने है। वे टेक्नोलॉजी और इनोवेशन से नयी दशा व दिशा दे सकते हैं। 

डॉ. प्रह्लाथन केके को मिला न्यू इंडिया चेंज मेकर अवार्ड 
डॉ. मुखर्जी ने संस्थान का पहला एलएन मिश्र न्यू इंडिया चेंज मेकर अवार्ड-2018 भूमि (चेन्नई) के संस्थापक डॉ. प्रह्लाथन केके को दिया। उन्हें 5 लाख का चेक और प्रशस्ति पत्र दिया गया। पूर्व राष्ट्रपति ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्र की पुस्तक ‘बिहार बढ़कर रहेगा’ का लोकार्पण किया।

नवाचार व तकनीक से समस्याओं का हल खोजें : मोदी
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि जमाना टेक्नोलॉजी और नवाचार का है। नौजवानों से अपील है कि वे अपनी योग्यता, प्रतिभा और इनोवेशन से कृषि उत्पादकता बढ़ाने, जलवायु परिवर्तन और जल संकट जैसी समस्याओं का समाधान खोजें। श्री मोदी को डॉ. मिश्र को उनकी 22वीं किताब के लिए बधाई देते हुए कहा कि शायद ही ऐसा कोई दूसरा राजनेता हो जिसने अपने जीवनकाल में इतनी पुस्तकें लिखी हों। कहा कि डा. मुखर्जी गिने-चुने तीक्ष्ण बुद्धि वाले तथा राजनीति को दिशा देने वाले राजनेता हैं। 

प्रणब बाबू ने नागपुर जाकर अच्छा किया : डॉ. मिश्र
डॉ. जगन्नाथ मिश्र ने कहा कि डा. मुखर्जी की नागपुर यात्रा को कितना विवादास्पद बनाने की कोशिश हुई, पर नागपुर जाकर इन्होंने अच्छा किया। अतिथियों का स्वागत संजीव मिश्रा ने जबकि कार्यक्रम के औचित्य पर प्रकाश पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा ने डाला। संचालन सोमा चक्रवर्ती ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:We must celebrate the diversity of India Pranab Mukherjee