अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन वर्षों में बनेंगे 60 हजार किमी ग्रामीण पथ

तीन वर्षों में बनेंगे 60 हजार किमी ग्रामीण पथ

अगले तीन वर्षों में 60 हजार 900 किलोमीटर ग्रामीण पथ का निर्माण कर राज्य के सभी बसावटों को संपर्कता प्रदान कर दी जाएगी। इनमें 2017-18 में 12 हजार किलोमीटर ग्रामीण पथ बनेंगे, जिस पर 10 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि पथों के निर्माण में पैसे की कमी नहीं होने दी जाएगी। वे बुधवार को ग्रामीण कार्य विभाग की समीक्षा बैठक की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। मुख्यमंत्री सचिवालय संवाद में बैठक के बाद विकास आयुक्त शिशिर सिन्हा ने कहा कि राज्य में सभी ग्रामीण पथों की लंबाई एक लाख, 29 हजार 473 किमी है। इनमें 69 हजार किमी पथ का निर्माण कराया जा चुका है। अगले तीन वर्षों में 60 हजार 900 किमी ग्रामीण पथ का निर्माण कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने विभाग को कहा है कि पथ की गुणवत्ता से समझौता बिल्कुल न करें। इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। पथ बनने के दौरान और फिर बनने के बाद भी निरंतर उसकी मॉनिटरिंग व जांच करें। विकास आयुक्त ने कहा कि राज्य में बसावटों की संख्या एक लाख 29 हजार 209 हैं। इनमें 68 हजार 200 बसावटों को सिंगल रोड से संपर्कता प्रदान की जा चुकी है। 61 हजार बसावटों को अगले तीन सालों में चरणबद्ध तरीके से संपर्कता प्रदान कर दी जाएगी। इसी प्रकार सात निश्चय के तहत ग्रामीण टोला संपर्क निश्चय योजना में 4643 टोलों को संपर्कता प्रदान की जानी है। इस पर तेजी से काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में सबसे अधिक लंबाई में पथ का निर्माण करने का पुरस्कार बिहार को मिला है। वर्ष 2016-17 में नौ हजार किमी पथ का निर्माण हुआ था। प्लास्टिक वेस्ट का उपयोग सड़क निर्माण में होगा समीक्षा बैठक में यह भी निर्णय हुआ कि प्लास्टिक वेस्ट के उपयोग से सड़क निर्माण किया जाएगा। इस वर्ष 374 पथों में 657 किलोमीटर से अधिक लंबाई में पथों के निर्माण में प्लास्टिक वेस्ट का प्रयोग किया जाएगा। इससे कचरा प्रबंधन में सहूलियत होने के साथ-साथ विटुमिन की मात्रा आठ फीसदी तक कम होगी। इससे लोगों को एक नियमित रोजगार भी मिलेगा। राज्य के पर्यटन स्थलों का सर्वेक्षण कर उन सभी को सड़क से जोड़ने की योजना बनायी जा रही है। समीक्षा के दौरान ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, ग्रामीण कार्य के सचिव विनय कुमार आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Three years will be 60 thousand km rural road