अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार विश्वविद्यालय के हजारों छात्रों को राहत

पटना हाईकोर्ट ने बिहार विश्वविद्यालय के हजारों छात्रों को बड़ी राहत दी है। कोर्ट ने विश्वविद्यालय को 17 जुलाई से होने वाली स्नातक परीक्षा में इन छात्रों को शामिल करने का आदेश दिया है। साथ ही अधिकारियों को जवाबी हलफनामा दायर कर स्थिति स्पष्ट करने का आदेश दिया है।

कोर्ट ने यह भी बताने को कहा है कि किस परिस्थिति में इन कॉलेज को संबद्धता देने की कार्रवाई लंबित रखी गई। कोर्ट ने संबद्धता लंबित रखने के दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई करने तक की बात कही। मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति राजेंद्र में तथा न्यायमूर्ति राजीव रंजन प्रसाद की खंडपीठ ने एक साथ छह मामलों पर सुनवाई के बाद यह आदेश दिया। आवेदकों की ओर से वकील अरुण कुमार ने अदालत को बताया कि कॉलेज को विश्वविद्यालय द्वारा संबद्धता देने की अनुशंसा की गई, लेकिन मामला राज्य सरकार के पास लंबित है। इस आधार पर कॉलेजों ने छात्रों का नामांकन तो ले लिया, लेकिन सरकार के स्तर पर लंबित रहने के कारण विश्विद्यालय छात्रों का रजिस्ट्रेशन और परीक्षा प्रपत्र स्वीकार नहीं कर रहा। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट की एकलपीठ ने संबद्धता देने के बारे में कार्रवाई करने का आदेश दिया, लेकिन छात्रों को परीक्षा में शामिल करने का आदेश नहीं दिया था। कोर्ट ने फिलहाल छात्रों को परीक्षा में शामिल करने का आदेश दिया। साथ ही कॉलेज को संबद्धता नहीं दिए जाने पर नाराजगी व्यक्त की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Thousands of students of Bihar University relief