DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › पटना › गृह विभाग के भवन व भूमि का तैयार होगा डाटा बेस
पटना

गृह विभाग के भवन व भूमि का तैयार होगा डाटा बेस

हिन्दुस्तान टीम,पटनाPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 09:40 PM
गृह विभाग के भवन व भूमि का तैयार होगा डाटा बेस

गृह विभाग के भवन और भूमि का डाटा बेस तैयार किया जाएगा। चाहे वह शहरी क्षेत्र में हो या किसी सुदूरवर्ती इलाके में। इसमे थाना, ओपी, पुलिस लाइन या गृह विभाग से संबंधित अन्य इमारतें और जमीन भी शामिल होंगे। जीआईएस मैपिंग के बाद इसे एनआईसी द्वारा बनाए गए एप पर अपलोड किया जाएगा। गृह विभाग में पिछले दिनों हुई बैठक में इसपर कई दिशा-निर्देश दिए गए हैं।

थाना, ओपी, पुलिस लाइन, ट्रेनिंग सेंटर और गृह विभाग के अधीन दूसरे भवन, खाली जमीन के अलावा राज्य के श्मशान और कब्रिस्तान की भी जीआईएस मैपिंग होगी। इसमें विवादित भूमि की भी पूरी जानकारी उपलब्ध होगी। भूमि विवाद से जुड़े वैसे मामले जो लम्बे समय से चले आ रहे हैं और उससे विधि-व्यवस्था की समस्या उत्पन्न हो सकती है उसका भी पूरा डाटा रहेगा। गृह विभाग से संबंधित भवन और भूमि का जीआईएस मैपिंग होने के बाद उसे एप पर अपलोड किया जाएगा। इससे संबंधित कई तरह की जानकारियां आमलोगों से भी साझा की जाएगी। एनआईसी के मदद से यह काम शुरू कर दिया गया है। प्रथम चरण में अरवल, पूर्णियां, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, मुंगेर, भागलपुर, सहरसा, सारण, गया और बेतिया जिले के गृह विभाग की संपत्तियों की जीआईएस मैपिंग होगी। इसमें किसी तरह की दिक्कत आने पर एनआईसी द्वारा दूर किया जाएगा। इसके पूरा होने के बाद बाकी जिलों से जुड़े भवन और भूमि का जीआईएस मैपिंग कर उसे एप पर अपलोड करने की कार्रवाई होगी।

संबंधित खबरें