Special prayer in churches on Good Friday in Patna - गुड फ्राइडे: सूली पर चढ़े यीशु, झांकियों में दिखा जीवन दर्शन DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुड फ्राइडे: सूली पर चढ़े यीशु, झांकियों में दिखा जीवन दर्शन

गुड फ्राइडे पर राजधानी में शुक्रवार को क्रूस यात्रा निकाली गई। विभिन्न झांकियों में ईसाई धर्मावलंबियों ने प्रभु यीशु के सूली पर चढ़ने से लेकर जीवन के अन्य मार्मिक प्रसंगों को जीवंत किया। चर्चों में विशेष प्रार्थना सभा हुई। जिस रास्ते से झांकियां गुजरीं, लोग श्रद्धालुओं का स्वागत कर रहे थे। इस दौरान लोग यीशु के जीवन से रूबरू होते रहे। 

गुरहट्टा स्थित पादरी की हवेली चर्च सूबे के प्राचीन चर्चों में एक है। यह पटना का एकमात्र महागिरजाघर है। इसकी महत्ता इस बात से लगाई जा सकती है कि 1960 में मदर टेरेसा ने यहीं से नर्सिंग कोर्स किया था। गिरजाघर की स्थापना आठ अक्टूबर 1779 को हुई थी। विजिटेशन ऑफ ब्लैस्ट वर्जिन मेरी चर्च के नाम से मशहूर यह गिरजाघर डच शैली में बना है। यहां के पहले फादर बिशप ए हाटमन थे। यहां सभी धर्मों के लोग प्रार्थना सभा में शामिल होते हैं। 

राजधानी पटना में तीन मुख्य चर्च हैं। बांकीपुर चर्च और कुर्जी चर्च भी काफी पुराने हैं। क्राइस्ट चर्च गांधी मैदान, दानापुर कैंट, कंकड़बाग, आशियाना-दीघा रोड, फतुहा, पाटलिपुत्र कॉलोनी में भी चर्च हैं। राजधानी के आसपास कई स्थानों पर छोटे चर्च भी हैं, जिन्हें चैपल कहा जाता है। यहां भी प्रार्थना सभा का आयोजन होता है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Special prayer in churches on Good Friday in Patna

'हिन्दुस्तान स्मार्ट' अख़बार की कॉपी पाने के लिए, नीचे दिए फॉर्म को भरे

* आपके द्वारा दी गयी जानकारी किसी से साझा नहीं की जाएगी व केवल हिन्दुस्तान अख़बार द्वारा आपसे संपर्क करने के लिए इस्तमाल की जाएगी।