अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जाति छोड़ जमात की बात करें तो देश पर राज करेंगे किसान :मांझी

जाति छोड़ जमात की बात करें तो देश पर राज करेंगे किसान :मांझी

पूर्व मुख्यमंत्री और हम प्रमुख जीतन राम मांझी ने कहा है कि किसान अगर जाति को छोड़ जमात की बात करने लगे तो देश पर उनका राज होगा। किसान और मजदूर दोनों खेती के अंग हैं। उनको एकजुट होकर संघर्ष करना चाहिए। उन्होंने कृषि को उद्योग का दर्जा देने की वकालत करते हुए कहा कि इससे सभी समस्याओं का हल हो जाएगा।

श्री मांझी बुधवार को स्वामी सहजानंद सरस्वती की 130वीं जयन्ती पर आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। आयोजन स्वामी सहजानंद सरस्वती स्मारक समिति द्वारा विद्यापति मार्ग में किया गया था। उन्होंने कहा कि देश में किसानों को उत्पाद की लागत का ड़्योढ़ा देने की बात हो रही है, लेकिन अभी तक लागत आंकने का कोई मैकेनिज्म विकसित नहीं किया गया है। अगर कुछ व्यवस्था है भी तो ऐसे लोगों के हाथों में जो सिर्फ थ्योरी जानते हैं। खेतों से उनका कोई वास्ता नहीं है। बेहतर होगा कि कृषि उपादों की लागत का आकलन करने वाले मैकेनिज्म में किसानों का भी प्रतिनिधित्व हो।

उन्होंने कहा कि आज समर्थन मूल्य का लाभ किसानों को नहीं मिलता। सरकार धान खरीद लक्ष्य का 20वां भाग भी नहीं खरीद सकी है। अब किसानों के पास धान है भी नहीं। सभी ने अपनी जरूरत के अनुसार औने-पौने दाम पर धान बेच दिया है। पूरी व्यवस्था में बिचौलिए और सरकारी तबका मिलकर करोड़ों का वारा-न्यारा करता है। कार्यक्रम में केन्द्रीय राज्य मंत्री रामकृपाल यादव, पूर्व मंत्री डॉ. अनिल कुमार, पीके शाही, डॉ. सीपी ठाकुर, श्याम सुन्दर सिंह धीरज और पूर्व विधायक अनिल कुमार ने भी विचार रखे। अध्यक्षता पूर्व सांसद गिरिजा देवी ने की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Speaking of the tribe leaving the caste, the farmer will rule the country: Manjhi