DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नैंसी हत्याकांड की जांच को एसआईटी गठित: एडीजी

मधुबनी के नैसी झा हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। एडीजी मुख्यालय एसके सिंघल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि आईपीएस अधिकारी और एएसपी झंझारपुर निधि रानी के नेतृत्व में एसआईटी गठित की गई। इसमें मधुबनी महिला थाना की प्रभारी कंचन कुमारी समेत चार पुलिसवालों को शामिल किया गया है। डीआईजी दरभंगा ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया है। गला दबाकर की गई हत्या एडीजी मुख्यालय के मुताबिक 28 मई को नैंसी के शव का पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड द्वारा कराया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि हत्या गला दबाकर की गई है। बलात्कार और तेजाब से जलाने के चिन्ह नहीं पाए गए हैं। 25 मई को हुई थी लापता मधुबनी जिले के अंधरामठ थानाक्षेत्र में 25 मई को नैंसी झा लापता हुई थी। दो दिन बाद 27 को उसका शव पाया गया था। अगले दिन शव का पोस्टमार्टम कराया गया। इस मामले में दो संदिग्ध लालू झा और पवन झा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। एडीजी ने कहा कि अनुसंधान में किसी तरह की कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। लापरवाही बरतने वालों पर सख्त कार्रवाई करेंगे। पिछले साल अपराध घटे एडीजी मुख्यालय ने कहा कि राज्य में अपराध में कमी आई है। वर्ष 2015 के मुकाबले 2016 में अपराध की वारदातें कम हुई हैं। हत्या, लूट, डकैती, दुष्कर्म, फिरौती के लिए अपहरण समेत कई शीर्ष में अपराध की घटनाएं कम हुई। 2015 में जहां दुष्कर्म की 1041 घटनाएं दर्ज हुई थीं, वहीं पिछले साल इसकी संख्या 1007 थी। मधुबनी में बढ़ती घटनाओं पर सवाल नैंसी झा की हत्या के बाद मधुबनी जिला आपराधिक घटनाओं को लेकर सुर्खियों में हैं। यह पूछे जाने पर कि मधुबनी में लगातार अपराध की घटनाएं हो रही हैं एडीजी मुख्यालय एसके सिंघल ने कहा कि घटनाएं पुलिस के लिए चिंता की बात है। हमारी कोशिश हैं कि ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो। यदि स्थिति में सुधार नहीं होगा तो संबंधित पुलिस अफसरों पर सख्त कार्रवाई होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:SIT constituted to probe Nancy Murde case: ADG