अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गया और पूर्णिया सहकारी बैंकों के एमडी को शोकॉज

गया और पूर्णिया सहकारी बैंकों के एमडी को कारण बताओ नोटिस जारी की जाएगी। सहकारिता विभाग के प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा ने शुक्रवार को इसका आदेश दिया। दोनों बैंकों पर धान खरीद के लिए पैक्सों को पैसा देने में कोताही बरतने का आरोप है।

प्रधान सचिव ने शुक्रवार को धान खरीद की समीक्षा की। इस दौरान उन्हे जानकारी दी गई कि उक्त दोनों बैंको ने पैक्सों के लिए पैसा तो स्वीकृत किया है लेकिन कई ऐसी शर्तें लगा दी हैं जिन्हें पूरा करना कठिन है। प्रधान सचिव ने दो बैंकों के एमडी को कारण बताओं नोटिस देने का आदेश दिया। खरीद की गति पर उन्होंने संतोष जताया। साथ ही जल्द से जल्द मिलों को पैक्सों से टैग करने का आदेश दिया। अधिकारियों ने उन्होंने जानकारी दी कि अब तक राज्य में 1442 चावल मिलों का निबंधन हो चुका है। कुछ में धान के बदले चावल देने की व्यवस्था भी शुरू हो गई है। धान खरीद की जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया कि अब तक दो लाख 31 हजार टन धान की सरकारी खरीद हो चुकी है। यह गति पिछले वर्ष की तुलना में तीन गुना से भी अधिक है। 31 हजार दो सौ किसानों ने अब तक धान बेचा है। इसी के साथ दो लाख से अधिक किसानों ने धान बेचने के लिए अपना निबंधन करा लिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Shawkaj to Gaya and MD of Purnia Cooperative Banks