अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुख्य सचिव ने क्यों कहा कि राजकीय समारोहों में सासंदों और का स्थान आरक्षित रखें, पढ़ें

मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने सभी विभागों के प्रधान सचिवों-सचिवों, प्रमंडलीय आयुक्तों और जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि राजकीय समारोहों, शिलान्यास और उद्घाटन आदि कार्यक्रमों में सांसदों-विधायकों-विधान पार्षदों का उचित स्थान आरक्षित रखें। उन्हें अनिवार्य रूप से आमंत्रित करें। इनके साथ शिष्टतापूर्ण और सम्मानजनक व्यवहार करें।

मुख्य सचिव ने सभी पदधिकारियों को गुरुवार को इस संबंध में पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने इस बात को लेकर नाराजगी व्यक्त की है कि राज्य सरकार को जानकारी मिली है कि कई राजकीय समारोहों में जन प्रतिनिधियों को आमंत्रित नहीं किया गया अथवा उन्हें बैठने के लिए उचित स्थान आरक्षित नहीं किया गया था। जबकि जन प्रतिनिधियों के साथ शिष्टापूर्ण और सम्मानजनक व्यवहार करने को लेकर पूर्व में भी सामान्य प्रशासन द्वारा पदाधिकारियों को मार्गदर्शन जारी किया गया है। मुख्य सचिव ने लिखा है कि जनप्रतिनिधि होने के नाते लोकतांत्रिक व्यवस्था में उनलोगों का महत्वपूर्ण स्थान है। पदाधिकारी इस बात का विशेष ध्यान रखें कि इस संबंध में राज्य सरकार द्वारा जारी मार्गदर्शन का पालन सुनिश्चत हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:seat should reserve in function for MLAs and MPs