DA Image
10 जुलाई, 2020|3:32|IST

अगली स्टोरी

रेस्टोरेंट तो खुले, लेकिन बिना ग्राहक बोहनी पर आफत

जिला प्रशासन के आदेश के बाद 22 मई से लॉकडाउन के बीच पटना के सभी परमिट वाले रेस्टोरेंट खुल गए हैं, लेकिन जो समय और शर्तें तय की गई हैं, उनसे रेस्टारेंट संचालकों को बोहनी पर भी आफत है। रोस्टोरेंट से होम डिलिवरी के लिए नर्धिारित समय सीमा से संचालक निराश है। उनका कहना है कि शाम 6 बजे के बाद ही डिनर का सही समय होता है और उसी समय रेस्टोरेंट बंद होने की वजह से ज्यादा ऑर्डर नहीं मिल पा रहे हैं। 

दरअसल प्रशासन द्वारा रेस्टोरेंट खुलने का समय शाम 6 बजे तक निर्धारित किया गया है। लॉकडाउन में काफी दिनों तक बंद रहे पटना के सभी रेस्टोरेंटों के खुलने के बाद भी ज्यादा चहल-पहल देखने को नहीं मिल रही है, क्योंकि अभी फिलहाल अनुमति प्राप्त रेस्टोरेंट को सिर्फ होम डिलिवरी की ही इजाजत मिली है। रेस्टोरेंट में खाना परोसने की मनाही है। 

मोती महल रेस्टोरेंट के संचालक अभिषेक ने बताया कि प्रशासन द्वारा निर्धारित समय के अनुसार अभी हम सिर्फ लंच की सर्विस ही दे पा रहे हैं। डिनर के समय हमें रेस्टोरेंट बंद करना पड़ता है। जिस कारण लोगों तक डिनर नहीं पहुंच पाता है। यो चाइना के रेस्टोरेंट मैनेजर पंकज कुमार झा ने बताया कि हम रेस्टोरेंट का खर्च भीाहीं निकाल पा रहे हैं। सरकार और प्रशासन से आग्रह है कि समय में थोड़ा ससंशोधन करके रात 9 बजे तक रेस्टोरेंट खोलने का आदेश दिया जाए। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rostorant Operator is disappointed by deadline set home delivery amid corona lockdown in Patna Bihar

'हिन्दुस्तान स्मार्ट' अख़बार की कॉपी पाने के लिए, नीचे दिए फॉर्म को भरे

* आपके द्वारा दी गयी जानकारी किसी से साझा नहीं की जाएगी व केवल हिन्दुस्तान अख़बार द्वारा आपसे संपर्क करने के लिए इस्तमाल की जाएगी।