ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार पटनाखाजपुरा में अतिक्रमण हटाने के दौरान विरोध, पुलिस बल के आते ही भागे दुकानदार

खाजपुरा में अतिक्रमण हटाने के दौरान विरोध, पुलिस बल के आते ही भागे दुकानदार

शहर में अतिक्रमण हटाने का अभियान शनिवार को भी जारी रहा। नेहरू पथ पर शेखपुरा से रूकनपुरा तक जिला प्रशासन और नगर निगम की टीम ने अभियान चलाया। फुटपाथ...

खाजपुरा में अतिक्रमण हटाने के दौरान विरोध, पुलिस बल के आते ही भागे दुकानदार
default image
हिन्दुस्तान टीम,पटनाSat, 15 Jun 2024 06:45 PM
ऐप पर पढ़ें

पटना, प्रधान संवाददाता। शहर में अतिक्रमण हटाने का अभियान शनिवार को भी जारी रहा। नेहरू पथ पर शेखपुरा से रूकनपुरा तक जिला प्रशासन और नगर निगम की टीम ने अभियान चलाया। फुटपाथ के किनारे ठेला पर सब्जी, फल एवं अन्य सामग्री बेचने वाले दुकानदारों पर निगम की टीम ने लगभग 40 हजार रुपये का जुर्माना किया। इस दौरान दो ठेला, सब्जी और फल भी जब्त किए गए। खाजपुरा के पास अतिक्रमण हटाने के दौरान नगर निगम के अधिकारियों को विरोध का सामना करना पड़ा, लेकिन पुलिस बल के आगे बढ़ते ही दुकानदार भाग खड़े हुए।
जंक्शन गोलंबर के पास शुक्रवार को अतिक्रमण हटाने के दौरान नगर निगम व जिला प्रशासन की टीम से फुटपाथी दुकानदारों के बीच नोंकझोंक हो गई थी। बाद में दुकानदारों ने नगर निगम के कर्मचारियों और गार्ड को दौड़ा दौड़ाकर पीटा था। शनिवार को गोलंबर के पास विरोध प्रदर्शन चल रहा था, इसीलिए निगम के अधिकारियों ने नेहरू पथ पर अतिक्रमण हटाने का अभियान चलाया। शेखपुरा के पास जैसे ही निगम की टीम सुबह 11 बजे पहुंची। ठेला लेकर दुकानदार भागने लगे। खाजपुरा के पास काफी संख्या में दुकानदार थे। नगर निगम के अधिकारियों को आशंका हुई कि वहां बवाल हो सकता है इसीलिए पुलिस बल को बुला लिया। कई दुकानदार अभियान का विरोध किए, लेकिन पुलिस बल ने उन्हें वहां से खदेड़ दिया। अधिकारियों का कहना है कि अतिक्रमण हटाओ अभियान के साथ मात्र 10 पुलिस बल रह रहा है, इसीलिए अतिक्रमणकारी हंगामा कर दे रहे हैं। पुलिसबल की और मांग की जा रही है।

दूसरे दिन फिर फुटपाथ पर सज गईं दुकानें

नगर निगम और जिला प्रशासन की टीम ने शुक्रवार को रेलवे स्टेशन रोड से अतिक्रमण हटाया था। शनिवार को अतिक्रमण हटाने वाली टीम इस रूट पर नहीं आई। दुकानदार पहले की तरह ही सड़क पर ठेला, स्टैंड और टोकरी में समान रखकर बेचने लगे। उनका कहना था कि प्रशासन बताए कि वे कहां अस्थायी दुकान लगाएं। इसी प्रकार पाटलिपुत्र अंचल के बोरिंग कैनाल रोड में भी दुकानदारों ने फुटपाथ पर दुकान लगाई। शुक्रवार को नगर निगम ने अनाउंस किया था कि अतिक्रमण नहीं करें, लेकिन दूसरे दिन ही दुकानदार अपने-अपने जगहों पर दुकान लगा लिये। नगर निगम की टीम शनिवार को बोरिंग कैनाल रोड में राजापुर पुल की ओर नहीं आई।

फुटपाथी दुकानदारों ने किया प्रदर्शन

फुटपाथ दुकानदार संयुक्त संघर्ष मोर्चा के बैनर तले दुकानदारों ने शनिवार को जंक्शन गोलंबर के पास प्रदर्शन किया। प्रशासन और नगर निगम के अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की। उनका आरोप था कि जिला प्रशासन और नगर निगम के अधिकारी अतिक्रमण हटाने के नाम पर अत्याचार कर रहे हैं। दुकानदारों का समर्थन करने भाकपा माले के विधायक महबूब आलम ने कहा कि गरीब तपके के लोगों के साथ अत्याचार हो रहा है। बाद में दुकानदारों ने नगर आयुक्त के नाम से 11 सूत्री मांग पत्र भी सौंपा। इसमें बगैर वैकल्पिक व्यवस्था के फुटपाथ दुकानों को नहीं उजाड़ने, उचित शुल्क के साथ फुटपाथ दुकानों का स्थायी तौर पर बंदोबस्त करने, शहर के सभी छोटे बडे बाजारों के पास वेंडिंग जोन का निर्माण, नगर निगम कर्मचारी व स्थानीय लोगों द्वारा किए जा रहे अवैध वसूली को बंद करने, दुकान उजाड़ने के दौरान माल की जब्ती सूची बनाना अनिवार्य किया जाने की मांग शामिल है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।