Preparation for Chhath completes - छठ पूजा: घरों की छत से लेकर पार्कों के तालाब में अर्घ्य देंगे व्रती DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छठ पूजा: घरों की छत से लेकर पार्कों के तालाब में अर्घ्य देंगे व्रती

लोक आस्था के महापर्व के रंग में राजधानी पूरी तरह रंग गई है। शहर से लेकर घाट तक छठ की तैयारियों में डूबे हुए हैं। छठ गीतों से माहौल भक्तिमय हो चला है। कहीं ‘पटना के घाट पर उगे ले सूरज देव झांकी-झुकी’ तो कहीं ‘मारबो रे सुगवा धनुख से, सुगा गिरे मुरझाए’ जैसे गीत बज रहे हैं। चौक-चौराहों से लेकर घर तक हर जगह अस्ताचलगामी और उदयाचल सूर्य को अर्घ्य देने की तैयारियां अंतिम चरण में दिख रही हैं।
 
आस्था के महापर्व पर जाम, भीड़ से बचने के लिए कोई घर की छत पर छठ घाट तैयार करने में जुटा है, तो कहीं घर के कैंपस में हौद  बनाए गए हैं। राजधानी के कई अपार्टमेंट की छतों, सामुदायिक भवनों, पार्कों में मौजूद तालाबों में भी छठ माई को बड़ी संख्या में छठ व्रती अर्घ्य देंगे। कंकड़बाग के शिवाजी पार्क, शहीद कुणाल पार्क, पंच शिव मंदिर, महात्मा गांधी नगर स्थित पार्क में निर्मित तालाब, गर्दनीबाग के कच्ची तालाब, बीएमपी, संजय गांधी जैविक उद्यान आदि तालाब व पार्कों में भी अर्घ्य देने की व्यवस्था की गई है। 

तालाब को किया गया है साफ

राजेन्द्र नगर सब्जी मंडी स्थित पार्क में बने तालाब की मंगलवार और बुधवार को साफ-सफाई कर दी गई है। छठ पूजा समिति के कार्यकर्ताओं ने तालाब की सीढ़ियों को रगड़-रगड़ कर धोया है। अब टैंकर से गंगाजल के साथ साफ पानी तालाब में भरा जाएगा। कंकड़बाग इलाके में ही इस तरह के दर्जनों तालाब मौजूद हैं, जहां इस वर्ष पर्वेतिन सूर्य को अर्घ्य देंगी।


शिवाजी पार्क, शहीद कुणाल पार्क, गांधी नगर स्थित पार्क में मौजूद तालाबों को भी साफ-सफाई हो चुकी है। कई जगहों पर पार्कों में इस व्यवस्था के लिए छठ व्रतियों से कुछ शुल्क भी लिया जा रहा है, जबकि कई जगहों पर पूजा समितियों की तरफ से नि:शुल्क व्यवस्था की गई है। 

अस्थायी तालाब भी

बैंक मैंस कॉलोनी सामुदायिक भवन में अस्थायी तालाब बनाया गया है। बुधवार को लगभग एक फीट ऊंचा और पन्द्रह-बीस फीट लंबे बने हौज में प्लास्टर हो रहा था। इलाके के मनोकामना मंदिर से जुड़े मिथिलेश कुमार सिन्हा कहते हैं कि कॉलोनी में ही एक-डेढ़ हजार लोग छठ करते हैं। इनमें से कई घरों की छतों पर हौज बना हुआ है लेकिन कई लोगों को अर्घ्य के लिए नदी में जाना पड़ता था। लोगों की परेशानी को देखते हुए सामुदायिक भवन में अस्थायी तालाब का निर्माण कराया गया है। इस तरह के अस्थायी तालाब शहर में कई जगहों पर बनाए गए हैं। 

कैंपस में हौदा

महात्मा गांधी नगर, संजय गांधी नगर, भागवत नगर, हनुमान नगर कई मोहल्लों में लोगों ने छठ के लिए अपने घर के कैंपस में एक छोटा सा तालाब बनवाया है। बुधवार को इन तालाबों की सफाई करते हुए देखा गया। महात्मा गांधी नगर के अंजनी कुमार कहते हैं कि मेरे घर में चैती और कार्तिक दोनों छठ होते हैं। नदी तक पूरा परिवार लेकर जाने में कई तरह की परेशानी होती थी, इसलिए घर में ही छोटा सा हौदा बनावा लिया है अब इसमें ही अपने परिवार के साथ छठ पर्व करता हूं। पूरा परिवार मिलकर हौदे की सफाई करता है। छठ बीत जाने के बाद हौदे के ऊपर लकड़ी का पटरा रख देते हैं। 
 

घरों की छतों पर बाथटब  और हौज

राजधानी के कई घरों की छतों पर बाथटब में भी छठव्रती सूर्य को अर्घ्य देंगी। भागवत नगर स्थित कई घरों की छतों पर लोगों ने पानी इक्टठा करने के लिए बाथटब का इंतजाम किया है। इलाके की रश्मि प्रसाद कहती हैं कि हमलोग हर वर्ष छत पर बाथटब में पानी भरकर सूर्य को अर्घ्य देते हैं। हर साल अर्घ्य देने के बाद बाथटब को अलग रख देते हैं। इससे घाट की शुद्धता भी बनी रहती है। कई अपार्टमेंट व घरों की छतों पर भगवान भास्कर को अर्घ्य देने के लिए स्थायी हौज बनाया गया है। जहां छठ व्रती व उनके परिजन छठी माई को अर्घ्य देंगे।

बहादुरपुर एचआईजी में रहने वाली मंजू देवी कहती हैं, यहां से गंगा नजदीक है लेकिन वहां इतनी भीड़ होती है कि ठीक से अर्घ्य नहीं दिया जा सकता। इसके अलावा गंगा नदी में मिलने वाले नाला का पानी भी उनकी पूजा में खलल डालता है। वे कहती हैं कि नदी का पानी साफ रहना चाहिए। नाला आदि का पानी पर्व के दौरान नदी में गिरने से रोक देना चाहिए। छठ में स्वच्छता का विशेष महत्व है इसे देखते हुए वे घर के छत पर ही सूर्य को अर्घ्य देती हैं।

रंगीन रोशनी से नहा रहीं घाट जाने वाली सड़कें

आस्था के महापर्व छठ पूजा को लेकर शाहपुर से मनेर के बीच राष्ट्रीय राज मार्ग-30 की सूरत ही बदल गई। सड़कों की साफ सफाई कर पानी से धोया गया है। सड़कों पर धूल का नामोनिशान देखने को नहीं मिल रहा है। बड़े-बड़े स्वागत द्वार बनाए गए हैं। सड़क के दोनों किनारे हरे रंग की लाइट और सड़क के ऊपर रंग-बिरंगे बल्बों से राष्ट्रीय राजमार्ग को सजाया गया है। 

आजाद क्लब शाहपुर द्वारा मुख्य मार्ग से घाट तक और पूरे शाहपुर में मुख्य मार्ग को सजाया गया है। शाहपुर पुलिया के पास घाट के प्रवेश द्वार पर अक्षरधाम मंदिर का पंडाल बनाया गया है। बीबीगंज छोटी मछुआ टोली से सुल्तानपुर, नया टोला मार्ग तक छात्र क्लब, नटराज क्लब, जीवन ज्योति पूजा समिति, मयूर क्लब समेत अन्य पूजा समिति की ओर से सजावट की गई है। न्यू ताराचक में  विनोद श्रीवास्ताव, दीनानाथ यादव व इंजीनियर अशोक यादव ने व्रतियों के बीच प्रसाद वितरण किए।
 
केंद्रीय मंत्री समेत कई संगठनों ने बांटी छठ पूजन सामग्री  

केंद्रीय राज्य मंत्री रामकृपाल यादव समेत कई अन्य जनप्रतिनिधियों और समाजसेवियों ने बुधवार को छठ पूजन सामग्री वितरित किया। राज्यमंत्री ने स्टेशन रोड पर चिरैयांटांड़ पुल के निकट गोरियाटोली में पूजन सामग्री वितरित किया। उनके साथ विधायक नीतिन नवीन और डिप्टी मेयर विनय कुमार पप्पू भी मौजूद थे। डिप्टी मेयर ने बताया कि कैंप में मंत्री और विधायक द्वारा कई  छठ व्रतियों को पूजन सामग्री वितरित की गई। 
वार्ड 32 की पार्षद पिंकी यादव ने भी छठ व्रतियों के बीच सूप और प्रसाद का वितरण किया। वार्ड के पूर्वी रामकृष्णा नगर में प्रसाद की व्यवस्था न्यू फ्रेंडशिप क्लब द्वारा किया गया था। मौके पर पार्षद पति सुजीत
यादव व क्लब के कई सदस्य मौजूद थे। 

हिन्दू जागरण मंच ने भी बांटी पूजन सामग्री

वार्ड 35 में हिन्दू जागरण मंच के तत्वावधान में विधायक अरुण कुमार सिन्हा और समाजसेवी  कुमार सुमन ने पूजन सामग्री का वितरण किया। मौके पर विधायक अरुण सिन्हा ने लोगों को सहयोग के लिए प्रेरित करने पर कुमार सुमन की तारीफ भी की। 

हनुमान नगर पार्क में छठ पूजन सामग्री का वितरण किया गया। पूर्व पार्षद पूनम सिंह की ओर से पूजन सामग्री बांटी गई। मौके पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार, विधायक संजीव चौरसिया, विधायक अरुण कुमार सिन्हा, समाजसेवी धर्मेंद्र कुमार, दीपक, रवि और राजू आदि उपस्थित थे।   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Preparation for Chhath completes

'हिन्दुस्तान स्मार्ट' अख़बार की कॉपी पाने के लिए, नीचे दिए फॉर्म को भरे

* आपके द्वारा दी गयी जानकारी किसी से साझा नहीं की जाएगी व केवल हिन्दुस्तान अख़बार द्वारा आपसे संपर्क करने के लिए इस्तमाल की जाएगी।