अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जविप्र दुकानों में लगेंगी पॉस मशीनें : मदन सहनी

राज्य के सभी जनवितरण प्रणाली की दुकानों में प्वाइंट ऑफ सेल मशीन (पॉस मशीन) लगेगी। खाद्य आपूर्ति विभाग ने पॉस मशीन लगाने के लिए निविदा जारी कर दी है। खाद्य आपूर्ति मंत्री मदन सहनी ने गुरुवार को बताया कि कम से कम दो कंपनियों को निविदा के माध्यम से जिम्मेदारी सौंपी जाएगी, ताकि जल्द से जल्द पॉस मशीनें लगाई जा सकें।

मंत्री ने बताया कि पॉस मशीन की सेवा किराये पर ली जाएगी। जविप्र के दुकानदारों को निर्धारित अतिरिक्त मार्जिन प्रति क्विंटल 17 रुपए का भुगतान हर महीने किया जाएगा। इसके लिए केंद्र व राज्य सरकार 50: 50 प्रतिशत राशि खर्च करेगी। इस पर सालाना 93 करोड़, 39 लाख, 56 हजार रुपए खर्च होने की संभावना है। ऑफलाइन या मशीन खराब होने की स्थिति में भुगतान नहीं किया जाएगा।

मंत्री श्री सहनी ने बताया कि हर जिले में खाद्य विभाग का अपना भवन बनेगा। राज्य में 55 हजार 312 जविप्र दुकानों की आवश्यकता है, जबकि वर्तमान में 41 हजार 725 दुकानें हैं। शेष दुकान खोलने की प्रक्रिया जारी है। उन्होंने बताया कि राज्य में सभी जविप्र दुकानों पर पॉस मशीन लगाकर खाद्यान्न की आपूर्ति की जाएगी। मशीन चलाने का प्रशिक्षण भी दुकानदारों को दिया जाएगा। पांच साल बाद पॉस मशीन दुकानदारों को चालू हालत में हस्तांतरित कर दिया जाएगा। मशीन के संचालन व रखरखाव की जिम्मेदारी संबंधित कंपनी की होगी। पूरी प्रणाली की निगरानी के लिए विकास आयुक्त की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय समिति गठित होगी। इसमें संबंधित विभाग के प्रधान सचिव भी शामिल होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: POS Machines in Shops: Madan Sahni