अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जानकारी के अभाव में जाती है भूकंप से जान : व्यास जी

बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व्यास जी ने कहा है कि वर्ष 1934 में आए भूकम्प में कई लोगों की जान चली गई थी। जानकारी के अभाव में ही भूकम्प से जान-माल का नुकसान होता है। इसलिए प्राधिकरण की ओर से जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा रहा है।

बीते 15 जनवरी से 21 जनवरी तक चलने वाले भूकम्प सुरक्षा सप्ताह के छठे दिन आयोजित पेंटिंग व नारा प्रतियोगिता में उपाध्यक्ष ने कहा कि भूकम्प से बचाव के लिए मॉकड्रिल के साथ ही कई कार्यक्रमों का आयोजन हो रहा है। पेंटिंग व नारा लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है ताकि बच्चों में भी जागरूकता आए। प्रतियोगिता में 500 बच्चों ने भाग लिया। भूकम्प सुरक्षा सप्ताह के अंतिम दिन रविवार को विजयी प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जाएगा। प्राधिकरण के वरीय सलाहकार डॉ शंकर दयाल ने मॉकड्रिल का अहम महत्व है। इसके पहले प्राधिकरण व एनडीआरएफ के सहयोग से भूकम्प सुरक्षा सप्ताह के तहत आरपीएस स्कूल में मॉकड्रिल का आयोजन किया गया। प्राचार्य दिलीप सिंह सहित सभी शिक्षक-शिक्षिकाएं व बच्चे मौजूद थे। मॉकड्रिल का संचालन एनडीआरएफ ने भाग लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:People lost their lives from earthquake due to lack of information