DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा की तरह कदाचार को शिष्टाचार नहीं मानती नीतीश सरकार

भाजपा की तरह कदाचार को शिष्टाचार नहीं मानती नीतीश सरकार

जदयू ने इंटर परीक्षा के परिणाम पर सवाल उठा रहे विपक्ष को आड़े हाथों लिया है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह व प्रवक्ता नीरज कुमार ने दावा किया कि इंटर परीक्षा में कोई अनियमितता नहीं हुई है। कहा कि कदाचार भाजपा के लिए शिष्टाचार हो सकता है, नीतीश सरकार के लिए नहीं। प्रदेश कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन में संजय सिंह ने कहा कि बिना तथ्यात्मक आधार के छात्रों को उकसाया जा रहा है, ताकि दंगा-फसाद हो। पिछले साल कुछ अनियमितताएं हुई थीं। उसके बाद सरकार ने कड़े फैसले लिए। कड़ाई के कारण रिजल्ट कम आए तो विपक्ष और मीडिया का एक धड़ा भ्रामक बातें करने लगा।

आर्ट्स टॉपर गणेश से मीडिया ने जो मौखिक सवाल पूछे हैं, उसका संगीत विषय में पूछे गए सवालों से लेना-देना नहीं था। मॉडल पुस्तिका के आधार पर दलित छात्र गणेश के साथ ही साइंस और कॉमर्स के टॉपरों का भी मूल्यांकन के बाद धांधली का दावा किया जाए। छात्रों की सुविधा के लिए स्क्रूटिनी व कम्पार्टमेंटल परीक्षा की व्यवस्था की गई है।

प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि किसी जिले की साक्षरता से परीक्षा के परिणाम को जोड़ा जाना बौद्धिक दिवालियापन है। बिहार में शैक्षणिक माहौल बना है और गुणवत्ता सुधार पर काम हो रहा है। शिक्षकों की गुणवत्ता पर शिक्षक संघ को जवाब देना चाहिए कि माध्यमिक शिक्षकों में कोई गुणवत्ता है या नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nitish government does not consider misconduct as courtesy as BJP