DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजेंद्र पुल के फुटपाथ से गिरकर मां-बेटी की मौत

राजेंद्र पुल के फुटपाथ से गिरकर मां-बेटी की मौत

1 / 3-अंधेरा होने की वजह से क्षतिग्रस्त लोहे के चदरे को देख नहीं सकी

राजेंद्र पुल के फुटपाथ से गिरकर मां-बेटी की मौत

2 / 3-अंधेरा होने की वजह से क्षतिग्रस्त लोहे के चदरे को देख नहीं सकी

राजेंद्र पुल के फुटपाथ से गिरकर मां-बेटी की मौत

3 / 3-अंधेरा होने की वजह से क्षतिग्रस्त लोहे के चदरे को देख नहीं सकी

PreviousNext

राजेन्द्र पुल के फुटपाथ से गिरकर गुरुवार को मां-बेटी की मौके पर मौत हो गई। शव को कब्जे में कर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। दोनों खगड़िया जिले के अलौली थाना अंतर्गत चातर घाट निवासी मृतका बासमती देवी (65) और सदर थाना अंतर्गत मधुरापुरा निवासी बेटी शैला देवी (45) राजगीर से मलमास मेला देखकर घर जा रही थी।

बताया जाता है कि मां-बेटी रात के अंधेरे में हथिदह स्टेशन उतर कर राजेंद्र पुल के पैदलपथ से पुल पार कर रही थी। इसी बीच टूटी फुटपाथ के पाया संख्या-1 के पास जर्जर स्थिति में रखे लोहे के चदरे पर पैर रखते दोनों मां-बेटी फिसलकर नीचे रेलवे लाइन पर जा गिरी। सिर में गंभीर चोट लगने से उनकी मौके पर ही मौत हो गई। सुबह जब स्थानीय लोगों ने एक साथ दो महिलाओं के शव को देखा तो पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची हथिदह थाने की पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

जानकारी के मुताबिक मां-बेटी जिस स्थान से नीचे गिरी है। वह बीते एक साल से क्षतिग्रस्त है। करीब एक वर्ष पूर्व ट्रक दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण फुटपाथ क्षतिग्रस्त हो गया था। रेलवे ने मरम्मत करने की बजाय इसे लोहे के चदरे से ढंक दिया था। जबकि पुल के रख-रखाव की जिम्मेदारी रेलवे की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mother-daughter dies due to falling from the pavement of Rajendra bridge