अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपदा के क्षेत्र में होना है अभी और काम : मंत्री

आपदा प्रबंधन मंत्री प्रो. चंद्रशेखर ने कहा है कि किसी आपदा में जान जाने पर परिवार सबसे अधिक प्रभावित होता है। किसी भी तरह की आपदा में जान-माल का नुकसान न हो, इस दिशा में अभी बहुत काम किया जाना बाकी है। इसलिए 2030 तक आपदा का जोखिम कम करने के लिए बिहार ने आपदा जोखिम न्यूनीकरण रोडमैप तैयार किया है। एएन सिन्हा संस्थान में बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण व शिक्षा विभाग की ओर से चल रहे विद्यालय सुरक्षा पखवाड़ा में मास्टर ट्रेनर्स प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन समारोह में मंत्री ने कहा कि रोडमैप बनाने वाला बिहार एशिया का पहला राज्य है। प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व्यास जी ने कहा कि स्कूलों के माध्यम से छात्रों में आपदा प्रबंधन के प्रति जागरुकता फैलाया जा रहा है। विद्यालयों के माध्यम से सुरक्षित बिहार की ओर बढ़ना है। कहा कि बच्चों में सुरक्षा के प्रति सीख हासिल करने की ललक होती है। प्रशिक्षक बच्चों को आपदा से सुरक्षा के उपाय बताकर विद्यालय सुरक्षा में कामयाब हो सकते हैं। 2015 में भूकंप से 80 लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद ही सीएम नीतीश कुमार के निर्देश पर भूकंप सुरक्षा व विद्यालय सुरक्षा पखवाड़ा आयोजित किया जा रहा है। समारोह में प्राधिकरण के सदस्य डॉ. उदयकांत मिश्र, एसडीआरएफ के सेकेंड कमांडर केके झा, एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडेंट आलोक कुमार, यूनिसेफ के विनय कुमार, प्राधिकरण के परियोजना पदाधिकारी डॉ. पल्लव कुमार ने विचार रखे। संचालन अनुज तिवारी व धन्यवाद ज्ञापन आरती रानी ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: More and more work to be done in the area of ​​disaster: Minister