DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार के तीन मेडिकल कॉलेजों पर एमसीआई की गाज

mci

चिकित्सा शिक्षा पर सख्ती दिखाते हुए मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) ने खराब गुणवत्ता वाले कॉलेजों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। बिहार के तीन कॉलेजों पर एमसीआई की गाज गिरी है। एमसीआई ने स्वास्थ्य मंत्रालय को इन कॉलेजों में नये प्रवेश पर रोक लगाने की सिफारिश की है। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि एमसीआई ने तीन कॉलेजों गवर्मेंट मेडिकल कॉलेज पश्चिमी चंपारण, वर्धमान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज नालंदा और श्रीकृष्णा मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर पर रोक लगाने की सिफारिश की है। इस पर मंत्रालय विचार कर रहा है। इन कॉलेजों पर रोक लगती है तो बिहार में इस साल एमबीबीएस की तीन सौ सीटें कम हो जाएंगी। मंत्रालय के अनुसार, एमसीआई ने इन कॉलेजों में अपनी विशेषज्ञ टीम भेजी थी। मार्च के पहले सप्ताह में टीमें भेजी गई थीं। 11 अप्रैल को एमसीआई की एग्जीक्यूटिव कमेटी की बैठक में इन कॉलेजों के प्रस्तावों को रखा गया था।

एमसीआई की रिपोर्ट के अनुसार, पश्चिमी चंपारण के सरकारी मेडिकल कॉलेज में 18 खामिया पाई गईं। शिक्षकों की कमी 35 फीसदी थी, रेजिडेंट डॉक्टरों की कमी 10 फीसदी थी। मेडिकल कॉलेज चार साल से चल रहा है, लेकिन अभी तक सीटी स्कैन मशीन यहां नहीं लग सकी है। इसके अलावा 246 के मुकाबले 186 नर्सें ही कॉलेज में थीं। इसी प्रकार पैरामेडिकल स्टॉफ व अन्य संसाधनों की कमी भी पाई गई। वर्धमान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज पावापुरी नालंदा के भी 100 सीटों के पांचवें बैच को रोकने की सिफारिश की गई है। यहां एमसीआई ने शिक्षकों के 40 फीसदी पद रिक्त पाए, जबकि रेजिडेंट डॉक्टरों की कमी 26 फीसदी है। जांच के वक्त सिर्फ 14 फीसदी बिस्तरों पर ही मरीज मिले, जबकि यह 80 फीसदी होनी चाहिए। नर्सों, पैरामेडिकल स्टाफ और अन्य संसाधनों की भारी कमी भी यहां पाई गई।

मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्णा मेडिकल कॉलेज का भी यही हाल रहा। यहां शिक्षकों के पद 21 फीसदी खाली मिले। रेजिडेंट डॉक्टरों की कमी 12 फीसदी थी। कुल 17 कमियां पाई गई। यहां भी सीटी स्कैन मशीन चालू हालत में नहीं थी। 50 सीटों वाले इस कॉलेज की क्षमता को हाल में बढ़ाया गया था और पिछली बार सौ सीटों की अनुमति मिली थी। 
-----------

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:MCI strict on three medical colleges in Bihar

'हिन्दुस्तान स्मार्ट' अख़बार की कॉपी पाने के लिए, नीचे दिए फॉर्म को भरे

* आपके द्वारा दी गयी जानकारी किसी से साझा नहीं की जाएगी व केवल हिन्दुस्तान अख़बार द्वारा आपसे संपर्क करने के लिए इस्तमाल की जाएगी।