अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

27 लाख भूमिहीन परिवारों को अब तक दी गई जमीन

राज्य में अब तक लगभग 27 लाख भूमिहीन परिवारों को आवास और खेती योग्य जमीन दी जा चुकी है। इसमें वर्ष 2009-10 में बनी महादलित योजना के तहत लगभग दो लाख 40 हजार परिवारों को मकान के लिए दी गई जमीन तथा वर्तमान में अभियान बसेरा कार्यक्रम के तहत 67.4 हजार परिवरों को दी गई जमीन भी शामिल है।

राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के मंत्री रामनारायण मंडल ने बुधवार को यह जानकारी विधान परिषद में दी। मंत्री केदारनाथ पांडेय के अल्पसूचित प्रश्न का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि वर्तमान में अभियान बसेरा कार्यक्रम चल रहा है। इसके तहत एक लाख 11 हजार 500 भूमिहीन परिवारों को चिह्नित किया गया है। इनमें 67 हजार 465 परिवारों को वास भूमि दे दी गई है। शेष 44 हजार 35 परिवारों को भी जीमन देने की प्रक्रिया चल रही है।

मंत्री ने कहा कि इसके पहले वर्ष 2009-10 में महादलित योजना शुरू की गई थी। इस योजना के तहत सर्वे में दो लाख 40 हजार 705 भूमिहीन परिवारों को चिह्नित किया गया था। खास बात यह है कि इस योजना में 100.02 प्रतिशत उपलब्धि रही और दो लाख 40 हजार 750 परिवारों को जमीन दी गई। इसके पहले भी चली योजनाओं के तहत 23 लाख 86 हजार 259 परिवारों को सरकार ने जमीन दी थी।

एक पूरक प्रश्न के जवाब में मंत्री ने कहा कि बेदखली की कहीं-कहीं से शिकायत मिलती है उस पर कार्रवाई की जाती है, लेकिन सरकार बंदोबस्ती के बाद भूधारकों के नाम जमीन का नामांतरण कराकर वैधानिक हक के साथ देती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Land given to 27 lakh landless families till date