DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंक डकैत के फर्जी तरीके से बेल लेने के मामले में एक वकील से पूछताछ

जीवित पिता के श्राद्ध का बहाना बनाकर अंतरराज्यीय बैंक डकैत प्रेम सहनी के प्रोविजनल बेल पर भागने को लेकर पुलिस ने एक वकील से लंबी पूछताछ की। हालांकि जिस वकील को पुलिस ने पूछताछ के लिये बुलाया था उन्होंने कहा कि इस प्रकरण में उनका हाथ नहीं है।

उन्हीं के नाम के एक दूसरे वकील भी हैं। बाद में वकील को थाने से ही छोड़ दिया गया। अब सोमवार को पुलिस टीम बड़ी कार्रवाई कर सकती है। इस मामले में कुछ कागजात भी पुलिस खंगालेगी ताकि यह पता चल सके कि किन लोगों की मिलीभगत के बाद यह फर्जीवाड़ा हुआ है। अगमकुआं थानेदार अशोक पांडेय के नेतृत्व में गठित टीम को कई अहम जानकारियां भी हाथ लगी हैं, जिसके आधार पर कार्रवाई की जा रही है। दूसरी ओर प्रेम सहनी के भागने को लेकर पश्चिम बंगाल की पुलिस ने रविवार को पटना पुलिस से संपर्क साधकर मामले की जानकारी ली। प्रेम की तलाश में दूसरे राज्यों की पुलिस भी जुट गयी है।

..तो बेलर बनने वाला विजय प्रेम गिरोह का था

पुलिस को शक है कि प्रेम सहनी का बेलर बनने वाला और खुद को उसका भाई बताने वाला विजय नाम का शख्स प्रेम गिरोह का सदस्य था। उसकी तलाश भी की जा रही है। विजय की पहचान करने में पुलिस जुटी हुई है। कयास यह भी लगाये जा रहे हैं कि विजय ने भी अपना फर्जी नाम-पता दिया होगा। विजय की तस्वीर मिल गयी तो वह पुलिस के लिये तुरूप का पत्ता साबित हो सकती है।

पूरे मामले पर एक नजर

बैंक डकैत प्रेम सहनी अपने जिवित पिता के श्राद्ध का नाटक रच तीन हफ्ते का प्रोविजनल बेल लेकर फरार हो गया। इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस अफसरों की नींद उड़ गयी। बीते 21 जुलाई को ही वह बेल पर निकल गया था। इस बाबत अगमकुआं थाने में एफआईआर दर्ज की गयी है। स्पेशल पुलिस टीम को पूरी जांच का जिम्मा सौंपा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Interrogation from advocate in the fake bail of Dacoit