अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सितम्बर तक 6 हजार पंचायतों में हाईस्पीड ब्राडबैंड : मोदी

सितम्बर तक 6 हजार पंचायतों में हाईस्पीड ब्राडबैंड : मोदी

उपमुख्यमंत्री सह आईटी मंत्री सुशील कुमार मोदी ने बताया कि डिजिटल इंडिया के तहत प्रथम चरण में 30 सितम्बर तक ऑपटिकल फाइबर के माध्यम से बिहार के 354 प्रखंडों की 6105 ग्राम पंचायतों में हाईस्पीड ब्राडबैंड सेवा उपलब्ध कराई जाएगी। मोबाइल कम्पनियों ने आश्वस्त किया है कि उपभोक्ताओं को कॉलड्रॉप की समस्या से निजात दिलाने के साथ ही इंटरनेट की स्पीड भी बढ़ाई जाएगी। शनिवार को श्री मोदी ने बताया कि स्वास्थ्य, शिक्षा व कृषि आदि से जुड़ी तमाम सेवाएं जिला मुख्यालय और प्रखंडों के बजाए अब ग्राम पंचायतों में ही उपलब्ध होंगी। उप मुख्यमंत्री ने बताया कि पूरे देश की 2.5 लाख ग्राम पंचायतों में डिजिटल इंडिया के तहत ऑपटिकल फाइबर के जरिए हाईस्पीड ब्राडबैंड सेवा उपलब्ध कराना है। प्रथम चरण में बिहार की 4,483 ग्राम पंचायतों में ऑपटिकल फाइबर बिछाया जा चुका है। शिवहर और किशनगंज जिले की सभी ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा जा चुका है। प्रथम चरण में चयनित शेष ग्राम पंचायतों में भी 30 सितम्बर तक ऑप्टिकल फाइबर बिछा दिए जायेंगे। पंचायतों में कार्यरत कॉमन सर्विस सेंटर और साइबर कैफे प्रथम चरण में इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे। श्री मोदी के अनुसार राज्य के इस समय बंद पड़े 100 से ज्यादा टेलीफोन एक्सचेंज को जल्द चालू कराने का निर्देश दिया गया है। कहा कि जियो, एयरटेल और वोडाफोन के अधिकारियों ने आश्वासन दिया है कि कॉलड्रॉप को न्यूनतम करने और इंटरनेट की स्पीड बढ़ाने के लिए आनेवाले दिनों में बड़ी संख्या में टॉवर लगाएंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में जियो की उपभोक्ता संख्या 50 लाख है। राज्य में एयरटेल के 2 करोड़, वोडाफोन के 75 लाख और बीएसएनएल के 29 लाख उपभोक्ता हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:high speed broadband in six thousand panchayats from september