DA Image
27 मार्च, 2020|11:51|IST

अगली स्टोरी

Bihar: पीडीएस दुकानों पर शिफ्ट में बटेगा अनाज

file photo

राज्य के जन वितरण प्रणाली दुकानदारों को यह व्यवस्था करनी है है कि गरीबों को अनाज भी मिले और दुकान पर भीड़ भी ना लगे। इसके लिए सरकार ने उन्हें कहा है कि लाभुकों को अलग-अलग श्रेणी में बांट कर तीन शिफ्ट में अनाज का वितरण करें। 

खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग ने राज्य में कोरोना का फैलाव रोकने के लिए कई निर्देश जारी किया है। विभाग ने पॉश मशीन से अनाज वितरण की व्यवस्था को पहले ही स्थगित कर दिया है। अब विभाग ने कहा है कि देशव्यापी लॉक डाउन के बावजूद पीडीएस की दुकानें तो खुली रहेंगी लेकिन उन दुकानों पर भीड़ नहीं लगे यह जिम्मेवारी दुकानदारों की होगी। दुकान के लाइसेंस होल्डर को इस बात का ख्याल रखना होगा कि हर लाभुक को अनाज मिल जाए लेकिन दुकान पर भीड़ नहीं लगे। इसके लिए बुजुर्ग महिला और युवकों की अलग-अलग श्रेणी बनाकर उन्हें अलग-अलग समय में अनाज दिया जाए। दुकानदार चाहे तो शिफ्ट को इलाके के हिसाब से भी बांट सकते हैं। अलग-अलग इलाके के लिए अलग अलग समय तय कर सकते हैं।

दुकानों की संख्या बढ़ी
राज्य में हाल में जन वितरण प्रणाली की दुकानों की संख्या काफी बढ़ी है। हालांकि अभी भी दुकानों की संख्या कम है। शहरी इलाके में 1350 लाभुक और देहाती इलाकों में 19 सौ लाभुक को एक दुकान से जोड़ना चाहिए। लेकिन अभी राज्य में दुकानों की संख्या के हिसाब से लाभुकों की संख्या अधिक है। लगभग 13 हजार नए दुकानों के आवंटन के बाद अब पीडीएस दुकानों की संख्या  लगभग 52000 हो गई है। इन दुकानों से 8:30 करोड़ लोगों को सस्ती दर पर अनाज दिया जाता है। हर महीने लगभग साडे 400000 टन अनाज का वितरण होता है।

मुफ्त का अनाज अगले महीने से
विभाग के सचिव पंकज पाल ने कहा कि मुफ्त में अनाज वितरण की व्यवस्था अगले महीने से की जाएगी। उन्होंने कहा कि अभी जो अनाज बांट रहा है उसकी प्रक्रिया एक महीना पहले पूरी कर ली गई थी। फरवरी में ही इसका पैसा जमा हो चुका है। अगले महीने लाभुकों को मुफ्त में अनाज बांटा जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Grain will be distributed in PDS shops in shift in Bihar Free grains from next month

'हिन्दुस्तान स्मार्ट' अख़बार की कॉपी पाने के लिए, नीचे दिए फॉर्म को भरे

* आपके द्वारा दी गयी जानकारी किसी से साझा नहीं की जाएगी व केवल हिन्दुस्तान अख़बार द्वारा आपसे संपर्क करने के लिए इस्तमाल की जाएगी।