DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार में बाढ़ का मिलजुल कर समाधान निकालें : प्रणब मुखर्जी

Pranab Mukherjee

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने बिहार में बाढ़ की समस्या का सभी संबंधित पक्षों से मिलजुल कर समाधान निकालने की आवश्यकता जतायी। कहा कि बिहार लैंड लॉक स्टेट है और अंतर्राष्ट्रीय सीमा क्षेत्र से बाढ़ की समस्या होती है। वैज्ञानिक समाज से अपील की कि इसके स्थायी समाधान में सहयोग करें। कहा कि क्या हम इसका पनबिजली उत्पादन के स्रोत के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। वहीं, उद्योग इन क्षेत्रों में उपलब्ध कृषि उत्पादों का कच्चे माल के रूप में उपयोग कर सकते हैं। 

मुखर्जी सोमवार को बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन (बीआईए) के प्लेटिनम जुबली वर्ष के समापन समारोह के मौके पर आयोजित कार्यक्रम का उद्घाटन करने के बाद बोल रहे थे। कहा कि पिछले दशक में बिहार की सकल घरेलू उत्पाद में वृद्धि दर 10.3 फीसदी रही, जबकि राष्ट्रीय औसत 7 फीसदी था। उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के कथन का जिक्र किया और कहा कि देश तभी विकसित हो सकता है जब सभी राज्य विकसित हों। बिहार इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। 

उन्होंने कहा कि बिहार में प्रति व्यक्ति आय 2015-16 में 29,190 रुपये था, जबकि राष्ट्रीय औसत 94,130 रुपये था। बिहार में अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। बिहार की सघन आबादी को देखते हुए यहां उत्पादक इकाइयों  को बढ़ाने की जरूरत है। सरकार को सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों के विकास की सशक्त नीति बनानी होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Find out combine solution of flood in Bihar Pranab Mukherjee