class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन प्रखंडों में किसानों व उपभोक्ताओं ने किया प्रदर्शन

राजधानी के आसपास के तीन प्रखंडों मनेर, मोकामा और पालीगंज में किसानों और उपभोक्ताओं ने अपनी मांगों व समस्याओं को लेकर जमकर हंगामा किया। मनेर प्रखंड मुख्यालय परिसर में मंगलवार को किसान व मजदूर नेताओं ने विभिन्न मुद्दों को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। धरना कीअध्यक्षता कर रहे किसान नेता ब्रजमोहन सिंह ने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार किसान व मजदूरों के साथ सौतेलापन का व्यवहार कर रही है। हर रोज महावीर टोला, रतनटोला, रामनगर व छिहत्तर गांव व खेती योग्य भूमि गंगा नदी के कटाव में विलीन होती जा रही है। इसकी शिकायत कई बार विभागीय पदाधिकारियों व मंत्री से की गई है। बावजूद कटाव वाले जगहों पर बोल्डर पिचिंग का कार्य नही बल्कि बोरी में रेत भरकर जियो बैंग लगाया जा रहा है। जबकि कटाव को रोकने में जियो बैग कारगर नहीं है। इतना हीं नहीं किसानों को फसल क्षति का मुआवजा नहीं दिया गया है। अगर सरकार हमारी समस्याओं का समाधान नहीं करती हैं तो मजबूरन हमलोग आंदोलन करने सड़क पर उतरेंगे। इस मौके पर किसान नेता ओमप्रकाश शर्मा, सूरज राय, रामकुमार सिंह, विमला देवी, सोना देवी, फुला देवी समेत दर्जनों लोग शामिल थे। इधर किसान नेताओं ने मनेर बीडीओ को लिखित ज्ञापन देकर समस्याओं से रूबरू कराया।

गेल इंडिया का काम किसानों ने रोका

मोकामा। संवाद सूत्र

प्रखंड के मरांची गांव के टाल क्षेत्र में गेल इंडिया द्वारा बिछायी जा रही पाइप लाइन का किसानों ने विरोध कर काम रोक दिय। मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के अंतर्गत बिछाये जा रहे जगदीशपुर- हल्दिया गैस पाइपलाइन मरांची गांव के टाल क्षेत्र से होकर गुजर रही है। किसानों का कहना है कि पिछली बैठक में गेल इंडिया के अधिकारियों ने कहा था कि किसानों की सहमति से मुआवजा राशि के भुगतान के बाद पाइप लाइन का काम किया जाएगा। परन्तु छह दिन पूर्व बगैर कोई सूचना दिए गेल इंडिया के द्वारा मिट्टी खुदाई कर पाइप बिछाने का काम शुरू कर दिया गया। जबकि पूरे टाल में अभी फसल लगी हुई है। गेल इंडिया की गाड़ी फसल को रौंदते हुए आ-जा रहे हैं, जिससे पूरा फसल बर्बाद हो गया है। मंगलवार को सैकड़ों किसानों ने काम को रोक दिया।

इधर गेल इंडिया के इंजीनियर राजू बनर्जी से बात करने पर उन्होंने बताया कि काम को तत्काल रोक दिया गया है। किसानों से बातचीत कर बीच का रास्ता निकाला जाएगा। राजू बनर्जी ने बताया कि बगैर मुआवजा दिए काम नहीं होगा। दूसरी ओर किसान इस बात से काफी आक्रोशित है कि बिना कोई सूचना और बगैर उनकी सहमति के गेल इंडिया ने काम क्यों शुरू किया।

एमओ व डीलर के खिलाफ किया हंगामा

पालीगंज। एक संवाददाता

बाजार में बेचने के लिए ले जाये जा रहे पीडीएस के 36 बोरा चावल व गेहूं को पकड़कर पुलिस के हवाले करने के पंद्रह दिन बाद भी कार्रवाई नहीं किए जाने से नाराज दहिया पंचायत के हेल्हा गांव के उपभोक्ताओं ने मंगलवार को अनुमंडल मुख्यालय पर एमओ व संबंधित डीलर के विरुद्ध जोरदार प्रदर्शन किया। उपभोक्ताओं का आरोप था कि एक पखवारा गुजर गया। डीलर पर कार्रवाई करने की बजाय पकड़े गए ट्रैक्टर को भी पुलिस ने छोड़ दिया। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि इस मामले में खिरीमोड़ थाने में कांड संख्या 76/2017 भी दर्ज है।

लोगों ने प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी(एमओ)पर डीलर के साथ घालमेल करने का आरोप लगाते हुए कहा कि एमओ ने गरीबों का ख्याल नहीं रखा। बल्कि डीलर संजय कुमार से सांठगांठ कर राशन की सभी बोरियों को बाजार में बेच दिया। बाद में उपभोक्तओं ने एमओ और डीलर पर कार्रवाई करने की मांग करते हुए एसडीओ को आवेदन दिया। इस बावत पूछने पर एसडीओ अनिल राय ने बताया कि उपभोक्ताओं के आवेदन पर जांच का निर्देश दिया गया है। जांच रिपोर्ट प्राप्त होने पर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Farmers and consumers protest in three blocks
चालीस हजार में बेचा गया सात माह का मासूम बरामदनशाखुरानी गिरोह का सरगना नन्की गिरफ्तार