अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहीदों के अंतिम संस्कार में मंत्रियों का शामिल न होना शर्मनाक : तेजस्वी

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने बिहार के दो शहीद सैनिकों के अंतिम संस्कार में राज्य सरकार के किसी मंत्री के शामिल नहीं होने को शर्मनाक बताया। बुधवार को जारी बयान में कहा कि जदयू संघ का वकील नहीं बने। ये राजनीतिक आरोप नहीं, शहीदों के सम्मान की बात है।

उन्होंने आरोप लगाया कि शहीदों को सम्मान देने के बजाए मंत्री गाना गाने में व्यस्त थे। उन्होंने शहीद सैनिक के परिवार को राज्य सरकार द्वारा पांच लाख की सहायता देने को मजाक बताया। कहा कि शहादत को पैसों से नहीं आंका जा सकता, लेकिन शहीद के परिजनों को परेशानी नहीं हो, इसलिए उन्हें 35 लाख मिलने चाहिए।

वहीं, फेसबुक वॉल पर वेलेटाइन डे को लेकर तेजस्वी ने कहा कि प्रेम है तो शांति है, शांति है तो विकास है, विकास है तो समृद्धि है। उन्होंने कहा कि वेलेंटाइन डे यानी प्रेम का उत्सव। आपकी इच्छा हो तो मनाएं, न हो तो न मनाएं। न किसी के दबाव या बहकावे में इसे मनाने से हिचकिचाएं और न ही किसी को मनाने से रोकें या उपहास करें। यह स्वेच्छा की बात है। न इस पर राज्य का दखल हो सकता है और न किसी स्वयंभू संगठन का।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Embarrassing not to be included in the funeral of the martyrs