DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिजियोथेरेपी को बढ़ाने का प्रयास होगा : विजय चौधरी

फिजियोथेरेपी को बढ़ाने का प्रयास होगा : विजय चौधरी

बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने कहा कि फिजियोथेरेपी मेडिकल साइंस का महत्वपूर्ण अंग है। मौजूदा समय में सभी विभागों में इसकी जरूरत महसूस होने लगी है। सभी को इसकी जरूरत पड़ती है। फिजियोथेरेपी की सुविधाएं बढ़ाने से संबंधित जो भी प्रस्ताव आएगा, उसमें मदद की जाएगी।

वे रविवार को विश्व फिजियोथेरेपी दिवस पर इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथेरेपी के समापन समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। रविवार को गांधी मैदान स्थित अनुग्रह नारायण सिंह संस्थान में आयोजित कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा ने कहा कि फिजियोथेरेपिस्टों की जो भी समस्याएं हैं उससे वे अवगत हैं। चाहे काउंसिल का गठन हो या फिर उचित सम्मान की बात हो। इस संबंध में स्वास्थ्य मंत्री से भी बात करेंगे। काउंसिल गठन में मदद करेंगे। मंत्री ने फिजियोथेरेपी काउंसिल तथा इसकी बुनियादी आवश्यकताओं के लिए अपनी तरफ से विशेष प्रयास करने का आश्वासन दिया।

राज्य निशक्तता आयुक्त डॉ. शिवाजी कुमार ने बताया कि दिव्यांगजनों को मुख्यधारा में जोड़ने में फिजियोथेरेपी का अहम योगदान है। फिजियोथेरेपी की उन्नति के लिए उनका पूरा प्रयास है। मौके पर आईएपी के संयोजक डॉ. नरेंद्र कुमार सिन्हा, डॉ. सुजीत कुमार, डॉ. मृत्युंजय कुमार, डॉ. अक्षय कुमार, डॉ. अखिलेश झा, डॉ. अविनाश चौधरी, डॉ. सुरेंद्र कुमार, डॉ. अजीत कुमार, डॉ. विवेक, डॉ. देवव्रत आदि मौजूद रहे।

डॉ. एनके सिन्हा बने आईएपी अध्यक्ष

इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथेरेपी के बिहार शाखा के कार्यकारिणी की बैठक में चुनाव हुआ। मतदान से अधिकारियों का चयन हुआ। डॉ. नरेन्द्र कुमार सिन्हा बिहार शाखा के अध्यक्ष चुने गए। वहीं, डॉ. शांति कुमारी उपाध्यक्ष, डॉ. उमाशंकर सिन्हा सचिव के अलावा डॉ. मृत्युंजय कुमार और डॉ. देवव्रत कुमार संयुक्त सचिव को बनाया गया है। वहीं, डॉ. सुजीत कुमार, डॉ. पंकज कुमार, डॉ. मनोज मिश्रा सदस्य बनाए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Efforts will be made to increase physiotherapy: Vijay Chaudhary