class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुनिया में सबसे ताकतवर है शिक्षा : राज्यपाल

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि शिक्षा से बढ़कर दुनिया में कोई चीज ताकतवर नहीं। इसके जरिये सब कुछ हासिल किया जा सकता है। जो बच्चे बेहतर ढंग से शिक्षा हासिल कर लेते हैं, फिर आसमान ही उनकी सीमा होती है। राज्यपाल ने मंगलवार को ये बातें राजभवन के राजेन्द्र मंडप में बाल दिवस समारोह में कही।

आयोजन राजभवन संचालित बिहार राज्य बाल कल्याण परिषद् द्वारा किया गया था। बच्चों से राज्यपाल ने अपने संघर्ष की कहानी भी साझा की। कहा कि महज डेढ़ वर्ष की उम्र में पिता का साया उठ गया। शिक्षा ऐसे में मुझे आगे बढ़ाने में मददगार साबित हुई। बच्चों से कहा कि खूब पढ़ें और आगे बढ़ते रहें। कहा कि पंडित जवाहर लाल नेहरू बच्चों के प्रति अपनी संवेदनशीलता के कारण काफी लोकप्रिय हुए।

समारोह में किलकारी, बाल्डवीन एकेडमी, इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल, राजभवन राजकीय कन्या विद्यालय के बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया गया। ‘सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रतियोगिता में किलकारी के बच्चों के उड़िया नृत्य ‘गोटी पुआ को प्रथम, राजकीय कन्या मध्य विद्यालय के ‘स्वच्छता अभियान नृत्य को द्वितीय, बाल्डवीन एकेडमी के बच्चों की ‘उड़ान को तृतीय तथा इंटरनेशनल स्कूल की प्रस्तुति ‘बालिका शिक्षा नृत्य को सांत्वना पुरस्कार राज्यपाल ने दिया। राज्यपाल ने चित्रांकन प्रतियोगिता के विभिन्न आयु वर्गों में नव्या सिंह, शान्वी प्रिया, कमाल अरशद, सीपी रूचि, अमृता कुमारी तथा एमआर युवराज एवं दिव्यांग कोटि के बच्चों में चंदना मुखर्जी, अभिषेक गुप्ता, जोनिदा, स्वाति कुमारी को भी पुरस्कार प्रदान किया।

जूडो-कराटे में राज्य को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाने वाली आद्या को भी राज्यपाल ने पुरस्कृत किया। स्वागत-भाषण राज्यपाल के प्रधान सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा, जबकि धन्यवाद ज्ञापन अपर सचिव विजय कुमार ने किया। कार्यक्रम संचालन सोमा चक्रवर्ती ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Education is the most powerful in the world: Governor
तालाब खुदवाने पर 90 फीसदी अनुदान : प्रेमडेढ साल का मासूम छत पर अकेले खेल रहा था, अचानक पानी भरे बाल्टी में झांकने लगा और फिर....