DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कई विधा में माहिर थे डॉ. श्रीनिवास : चौधरी

राजधानी के डाकबंगला पेट्रोल पंप के सामने स्थित बंदरबगीचा से भूमि विकास बैंक रोड अब डॉ. श्रीनिवास पथ के नाम से जाना जाएगा। सड़क का नामाकरण समारोह का उद्घाटन विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने किया। फादर ऑफ कार्डियक कहे जाने वाले साहित्यकार, उर्दू व फारसी के जानकार डॉ. श्रीनिवास के कारण ही अभी पटना में इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान है।

विस अध्यक्ष ने कहा कि एक कला में माहिर होने पर ही किसी को प्रसिद्धि मिल जाती है, जबकि डॉ. श्रीनिवास कई विधा में माहिर थे। पढ़ाई-लिखाई में अव्वल डॉ. श्रीनिवास गीत-संगीत, वेदपाठ में भी अव्वल थे। जमाने से आगे की सोच रखते थे। मौलिक सोच के कारण ही पांच दशक पहले उन्होंने एक महादलित का कन्यादान किया। सभी धर्मों के प्रति समान आदर के कारण ही अपने बच्चों का नाम भी उसके अनुसार रखा। धार्मिक प्रवृति के व्यक्ति थे पर क्रांतिकारी विचार के भी थे। उनके योगदान को समाज हमेशा याद रखेगा।

सेवानिवृत्त न्यायाधीश राजेन्द्र प्रसाद ने कहा कि डॉ. श्रीनिवास के कार्यों का लाभ आज समाज के हर तबके को मिल रहा है। उनके कारण ही आज हृदय रोग के मरीजों का विशेष उपचार हो रहा है। समारोह में वक्ताओं ने डॉ. श्रीनिवास की आईजीआईसी में एक प्रतिमा लगाने व उत्तर बिहार में उनके नाम पर एक मेडिकल कॉलेज खोलने की मांग रखी।

कार्यक्रम में पटना की मेयर सीता साहू व उप महापौर विनय कुमार पप्पू, डॉ. एसएन आर्या, डॉ. गोपाल प्रसाद सिन्हा, डॉ. अखिलानंद ठाकुर, प्रो. नवल किशोर चौधरी, बीआईए के अध्यक्ष केपीएस केसरी, डॉ. किरण समदर्शी, डॉ. तांडव आइंस्टाइन समदर्शी, उत्तम कुमार सिंह, टीआर गांधी, राजकिशोर चौधरी, पूनम ने भी विचार रखे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Dr. Srinivas was special in many streams: Chaudhary