Thursday, January 27, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार पटनाडॉक्टर की सलाह : बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाएं भी बेझिझक लें कोरोना टीका

डॉक्टर की सलाह : बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाएं भी बेझिझक लें कोरोना टीका

हिन्दुस्तान टीम,पटनाNewswrap
Mon, 29 Nov 2021 05:20 PM
डॉक्टर की सलाह : बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाएं भी बेझिझक लें कोरोना टीका

कोरोना टीके का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। जो महिलाएं गर्भवती हैं, उन्हें शुरू के तीन महीने के बाद कोरोना की वैक्सीन लेने से कोई परेशानी नहीं होगी। स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. उषा अग्रवाल ने महिलाओं को सलाह देते हुए ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाएं भी बेझिझक कोरोना टीका ले सकती हैं। आपके अपने अखबार हिन्दुस्तान के डॉक्टर की सलाह कार्यक्रम के तहत उन्होंने महिलाओं के सवालों का फोन पर जवाब दिया। साथ ही सलाह भी दी कि सभी महिलाएं कोरोना टीका जरूर ले लें ताकि खुद को और परिवार को सुरक्षित कर सके। इस संबंध में कोई भ्रम नहीं पालें। सुरक्षित मातृत्व के लिए गर्भवती महिलाओं को उन्होंने चिकित्सकों के लगातार संपर्क में रहने की सलाह दी।

25 से 30 की उम्र में एक बच्चा जरूर हो

आजकल की युवतियों में अनियमित मासिक की समस्या आ रही है। साथ ही ओबरी में सिस्ट होने लगा है। करियर बनाने की होड़ में युवतियों को लंबे समय तक बैठ कर पढ़ाई करना और कार्यालय में भी लंबे समय तक बैठे रहना, अधिक उम्र में शादी करना, मोटापा आदि कारणों से युवतियों में हार्मोनल बदलाव होते हैं। समय पर शादी करना और पहला बच्चा 25 से 30 वर्ष के उम्र में जरूर होना चाहिए। वहीं पहला और दूसरा बच्चे के बीच तीन साल का अंतराल होना चाहिए।

सर्वाइकल कैंसर से बचने के लिए लें वैक्सीन

महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर यानी बच्चेदानी के मुंह में कैंसर के केस मिल रहे हैं। ऐसे में 10 से 45 वर्ष की महिलाओं को सर्वाइकल कैंसर से बचने के लिए वैक्सीन जरूर लेनी चाहिए। ब्रेस्ट कैंसर से बचाव के लिए वैक्सीन तो नहीं है लेकिन ब्रेस्ट फीडिंग कराने से ब्रेस्ट कैंसर होने की आशंका बहुत कम हो जाती है। ब्रेस्ट कैंसर से बचना है तो मां अपने बच्चे को कम से कम छह महीना दूध जरूर पिलाएं और सर्वाइकल कैंसर से बचना है वैक्सीन समय रहते जरूर लगवाएं।

स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ.उषा अग्रवाल

सवाल: बच्चा होने के बाद मोटापे की शिकार हो गई हूं। (बिहियां से मालती देवी)

जवाब: सबसे पहले थायरायड की जांच कराएं। थायरायड के चलते भी मोटापे की समस्या होती है। खून की कमी से भी शरीर फूलता है। खून की जांच कराएं और सुबह शाम टहलने की आदत डालें।

सवाल: मेरे बाल झड़ रहे हैं, इसका उचित इलाज बताएं। (जहानाबाद से मधु कुमारी)

जवाब: आयरन और कैल्सियम की कमी से भी बाल झड़ते हैं। खान-पान में सुधार करना है। संतुलित आहार लेने से बाल झड़ना कम होगा। अगर बाल ज्यादा झड़ रहे हों तो किसी अच्छे चिकित्सक से सलाह लेकर इलाज कराएं।

सवाल: गर्भवती महिलाओं को डॉक्टरी सलाह कब से लेनी चाहिए। (पटना से स्मिता देवी)

जवाब: अगर बच्चे की प्लानिंग है तो शुरू में ही किसी स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए। जबतक बच्चा सामान्य रूप से जन्म नहीं ले ले, तबतक डॉक्टर के संपर्क में रहना चाहिए। समय-समय पर चिकित्सक की सलाह से जांच और जरूरी दवाएं लेनी चाहिए।

सवाल: माहवारी के दौरान बहुत खून निकलता है। (बोरिंग रोड से मंजुषा कुमारी)

जवाब: देर नहीं करें किसी अच्छे चिकित्सक से इलाज कराएं। सबसे पहले खून की जांच करा लें। ज्यादा खून निकलने से शरीर में कमजोरी होती है। डॉक्टर से सलाह लेकर इलाज कराएं।

सवाल: ज्यादा आईपील दवा लेने से क्या नुकसान होता है।(बिहारशरीफ से जी. रस्तोगी)

जवाब: महीने में दो बार आईपील का प्रयोग किया है तो यह शरीर के लिए नुकसानदाक है। इसके साइड इफक्ट भी होते हैं। इसके दूसरे विकल्प पर विचार करें। गर्भ निरोधक दवा ले सकते हैं।

इन्होने भी पूछे सवाल :

मुजफ्फरपुर से संगीता तिवारी, सोनपुर से ममता कुमारी, नवादा से चंचल कुमारी, भागलपुर से परमानंद, मुजफ्फरपुर से प्रमोद कुमार, गोपालगंज से मोनिका, आरा से बिरेन्द्र सिंह, रोहतास से सत्येन्द्र पासवान, पटना सिटी शबनम खातून आदि।

epaper

संबंधित खबरें