DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हवा में उड़ते कैंडिल से पटना के विमानों को खतरा

प्रतीकात्मक तस्वीर

हवा में जगमगाते कैंडिल (कंडिल ) को उड़ाने की नई परंपरा पटना के विमानों के लिए नये खतरे के रूप में सामने आयी है। ये कैंडिल विमानों की राह में आ सकते हैं। दिवाली की रात पटना के आकाश में दर्जनों कैंडिल काफी ऊंचाई तक उड़ते रहे। पटना एयरपोर्ट व यहां से जुड़े विमानों के लिए मुसीबत की बात यह है कि रनवे से उड़ान भरने वाले विमानों की ऊंचाई परिसर से बाहर भी बहुत कम होती है। ऐसे में हवा में लहरा रहे नियंत्रणविहीन कैंडिल हादसे का सबब बन सकते हैं।

पटना एयरपोर्ट के निदेशक राजेन्द्र सिंह लाहौरिया ने बताया कि अब तक भले ही पायलटों ने ऐसी कोई शिकायत नहीं की हो लेकिन हवा में हो रही इस हरकत का विमानों के परिचालन पर असर जरूर पड़ सकता है। उन्होंने कहा कि सचिवालय की ओर से रनवे पर विमानों के उतरने के दौरान पर्याप्त ऊंचाई होती है, लेकिन दूसरे छोर पर समस्या होती है।

पहले हो चुकी है शिकायत
एयरपोर्ट के आपपास की सड़कों पर आतिशबाजी की शिकायत पहले भी हो चुकी है। लग्न के दिनों में बारात व अन्य मांगलिक मौके पर इको पार्क से एयरपोर्ट की ओर जाने वाली सड़क पर आतिशबाजी की वजह से छह महीने पहले खतरा बढ़ा था। पटना एयरपोर्ट के एटीसी से जुड़े सूत्रों की मानें तो जिला प्रशासन से इस बाबत शिकायत की तैयारी भी की गई लेकिन आसपास हाईप्रोफाइल लोगों के रहने की वजह से मामला दब गया। अब नई समस्या हवा में उड़ते कंडिल ने खड़ी की है। ऐसे में आम लोगों को भी जागरूक होने की जरूरत है, ताकि उत्सवधर्मिता के बीच अनजाने में अनहोनी न हो जाये। 

पक्षियों की अधिकता से पहले से है परेशानी
पटना एयरपोर्ट प्रशासन विमानों के पक्षियों के टकराने की समस्या से पहले से ही परेशान है। लगातार बर्ड हीट की घटनाओं के बाद भी कोई कारगर कदम नहीं उठाये गए हैं। राजधानी के आसमान में दीपावाली के दो दिन बाद तक लोग कंडिल उड़ाते रहे। इससे समस्या और भी बढ़ गई है और नया खतरा भी सामने आया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dangers of aircrafts in air with flying kendil