DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

81 केंद्रों पर 10 मार्च से मूल्यांकन की संभावना

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इंटर मूल्यांकन के लिए प्रदेशभर में 81 केंद्र बनाए हैं। इसमें सबसे ज्यादा केंद्र सारण और पटना जिले में होंगे। होली के बाद कॉपियों का मूल्यांकन शुरू होग।

बिहार बोर्ड की मानें तो 10 मार्च से मूल्यांकन शुरू होगा, जो 20 मार्च तक चलेगा। उत्तरपुस्तिका की संख्या के अनुसार परीक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। विषय वार केंद्र रहेगा। जिस विषय की उत्तरपुस्तिकाएं अधिक होंगी, उनके लिए कई केंद्र रहेंगे। परीक्षकों को आईकार्ड दिए जाएंगे। परीक्षक और सह परीक्षक के अलावा किसी को अंदर जाने की अनुमति नहीं होगी। ज्ञात हो कि बार कोडिंग के बाद सारी कॉपियों को मूल्यांकन केंद्रों पर भेजने का काम शुरू कर दिया गया है। हर केंद्र पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे।

नहीं मिल रहे तीन साल के अनुभव वाले शिक्षक

इंटर परीक्षा के बाद मूल्यांकन की तैयारी शुरू कर दी गयी है। इस बार माध्यमिक और उच्च माध्यमिक के ऐसे शिक्षकों को मूल्यांकन के लिए रखा जाना है जिनके पास तीन साल का शिक्षण अनुभव हो। मगर अब जब ऐसे शिक्षकों की सूची तैयार की जा रही है तो मिल ही नहीं रहे हैं। यह हाल पटना जिला का है। कई स्कूल तो ऐसे हैं जहां पर दो से तीन शिक्षक ही हैं, जिन्हें सूची में शामिल कर दिया गया है।

डमी नियुक्ति पत्र भेजा गया शिक्षकों को

पहली बार बोर्ड ने शिक्षकों को डमी नियुक्ति पत्र जारी किया है। डमी नियुक्ति पत्र में सुधार संबंधित स्कूल कॉलेज के प्राचार्य को करनी है। प्राचार्य की ओर से सुधार करने के बाद ही नियुक्ति पत्र बोर्ड जारी करेगा। नियुक्ति पत्र होली के बाद जारी की जाएगी।

कोट :

मूल्यांकन की तैयारी शुरू कर दी गयी है। होली बाद मूल्यांकन कार्य शुरू होगा। अभी तक 10 मार्च संभावित तिथि रखी गयी है। मार्च में इंटर मूल्यांकन समाप्त कर दिए जाएंगे। -आनंद किशोर, अध्यक्ष, बिहार बोर्ड

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:copy evaluation on 81 centers from March 10