DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीबीएसई: आठवीं के बाद अब दाखिले को नहीं भटकेंगे विद्यार्थी

cbse board 10th result 2019 declared at cbseresults nic

छठी या आठवीं तक कक्षा चलाने वाले स्कूलों को सीबीएसई से एप्रूवल लेनी होगी। बोर्ड ने इस बाबत नोटिफिकेशन निकाला है। बोर्ड ने छठी से आठवीं तक कक्षा चलाने वाले स्कूलों को भी एफिलिएशन बाइलॉज में शामिल किया है। इसे 2019 से ही लागू कर दिया गया है। बाद में ऐसे स्कूलों को नौवीं और दसवीं के लिए संबद्धता भी जल्द मिल जाएगी। ऐसे में आठवीं के बाद विद्यार्थियों को दाखिले के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। 

ज्ञात हो कि अभी तक सैकड़ों की संख्या में स्कूल सीबीएसई कॅरिकुलम का बोर्ड लगाकर स्कूल चला रहे हैं। ऐसे स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को आठवीं के बाद नौवीं और दसवीं में नामांकन के लिए दिक्कत होती थी। पर अब ऐसा नहीं होगा।  इससे अभिभावकों को भी परेशानी नहीं होगी। 

बोर्ड की मानें तो अभी तक नौवीं-10वीं और 11वीं-12वीं के लिए ही संबद्धता मिलती थी। इसके लिए स्कूल को आठवीं में छात्र के उत्तीर्ण होने के बाद ऑनलाइन आवेदन करना होता था। आवेदन देने के बाद संबद्धता के लिए कई सालों तक इंतजार करना पड़ता था।  

20 से 50 हजार तक देना होगा शुल्क 
छठी से आठवीं कक्षा तक के एप्रूवल के लिए अलग-अलग शुल्क तय किये गए हैं। जो भी स्कूल एप्रूवल लेगा, उन्हें 20 से 50 हजार तक शुल्क देना होगा। इसके लिए आवेदन 30 जून तक किया जायेगा। 

ये होगा फायदा 
अब नौवीं के लिए एफिलिएशन लेने में परेशानी नहीं होगी
स्कूलों की मनमानी पर रोक लगेगी
अभिभावक भी ऐसे स्कूलों की शिकायत बोर्ड को कर पायेंगे 
स्कूल बोर्ड के नियम पर चलेगा 
आठवीं के बाद नामांकन करवाने की परेशानी से अभिभावक बचेंगे 

स्कूलों को मिडिल स्तर से ही संबद्धता की प्रक्रिया की जायेगी। अभी छठी से आठवीं तक एप्रूवल लेनी होगी। लेकिन बाद में इसे भी संबद्धता से जोड़ा जायेगा।
संयम भारद्वाज, परीक्षा नियंत्रक, सीबीएसई   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CBSE Students will not wander admission after 8th standard