DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार विधानसभा: अमीन व बालिका गृहकांड पर विपक्ष ने सरकार को घेरा

बिहार विधानसभा: अमीन व बालिका गृहकांड पर विपक्ष ने सरकार को घेरा

विधान सभा में राजद सहित विपक्षी दलों ने अमीन की कमी और उनकी नियुक्ति प्रक्रिया में देरी व मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड को लेकर जमकर शोरशराबा किया। वेल में आकर सरकार विरोधी नारे लगाए। हो-हल्ला के कारण दो बार सदन को स्थगित करना पड़ा। 

प्रश्नोत्तर काल के दौरान विपक्षी सदस्य अमीन मामले को लेकर वेल में आ गए और नारेबाजी करने लगे। इस पर विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने सदन की कार्यवाही को 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। जदयू के श्याम रजक के अल्पसूचित प्रश्न के उत्तर में भूमि एवं राजस्व मंत्री रामनारायण मंडल ने कहा कि अमीनों की नियुक्ति का कोई विज्ञापन नहीं निकला है और न्यायालय ने इस पर कोई रोक नहीं लगायी है। विभाग ने 2017 में 1522 अमीनों की नियुक्ति की अधियाचना बिहार संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद को भेजी है। पर्षद की अनुशंसा पर  नियुक्ति होगी। तत्काल के लिए संविदा पर अमीन बहाल हैं। 

इस पर विपक्ष भड़क गया। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि भूमि विवाद में वृद्धि हुई है और अपराध भी बढ़े हैं। सरकार अमीनों की नियुक्त को लेकर गंभीर नहीं है। विपक्ष ने संविदा पर नियुक्त अमीन की संख्या बताने की मांग की, लेकिन मंत्री संतोषजनक उत्तर नहीं दे सके। विस अध्यक्ष ने मंत्री को  निर्देश दिया कि वे पर्षद के अधिकारियों के साथ बैठक कर समीक्षा कर लें, लेकिन विपक्ष इससे भी संतुष्ट नहीं हुआ। 

वहीं, दूसरी बार 12 बजे से सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो राजद ने कार्यस्थगन प्रस्ताव पेशकर मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड को लेकर सर्वोच्च न्यायालय की टिप्पणी और कांड की जांच को लेकर चर्चा की मांग की। इसके बाद राजद सदस्य वेल में जाकर नारेबाजी करने लगे। इस पर सदन की कार्यवाही भोजनावकाश तक के लिए स्थगित कर दी गयी। इसके पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने भाकपा माले के अतिक्रमण हटाने को लेकर किए जा रहे मुकदमे के संबंध में पेश कार्यस्थगन प्रस्ताव को अस्वीकृति कर दिया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bihar assembly Opposition target Government on Muzaffarpur Shelter Home Case