class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कृषि में पशुपालन का महत्वपूर्ण योगदान: पारस

पशु व मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस ने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था में पशुपालन का महत्वपूर्ण योगदान है। राज्य सरकार ने पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं, ताकि इसका लाभ किसानों को मिल सके।

बुधवार को दानापुर अनुमंडल पशु चिकित्सालय में पशुओं के खुरहा, मुंहपका रोग के नि:शुल्क टीकाकरण अभियान का उद्घाटन करते हुए श्री पारस ने कहा कि पशुओं के खुरहा व मुंहपका रोग से बचाव के लिए टीकाकरण प्रभावी उपाय है। वर्ष 2009-10 से ही पूरे राज्य में नि:शुल्क टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। वित्तीय वर्ष 2017-18 में एक करोड़ 55 लाख पशुओं का टीकाकरण किया जाएगा।

केन्द्रीय राज्य मंत्री रामकृपाल यादव ने कहा कि टीकाकरण अभियान गांव-गांव व दियारा क्षेत्र में भी पहुंचाया जाए। बिहार में कृषि व पशुपालन पर अधिक निर्भरता है। बिहार में दुग्ध व मछली उत्पादन की अधिक संभावना है। सरकार ने पशुओं के बीमा की व्यवस्था की है, ताकि किसानों को कोई क्षति नहीं हो। विधायक आशा सिन्हा ने कहा कि किसानों को पशुपालन व मत्स्यपालन में सहयोग नहीं मिल रहा है। बैंक के अधिकारी किसानों की योजनाओं को पूरा करने में सहयोग करें। विभागीय सचिव डॉ. एन. विजयलक्ष्मी ने कहा कि साल में दो बार टीकाकरण किया जा रहा है। पशुपालन व मत्स्यपालन में आय अधिक है। कृषि रोड मैप का क्रियान्वयन किया जा रहा है, ताकि किसानों की आय दोगुनी हो। पशुपालन निदेशक राधेश्याम साह ने कहा कि खुरहा व मुंहपका रोग से पशुओं की मौत भी हो जाती है। टीकाकरण से इसे रोका जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Animal Husbandery Fisheries Minister
बिरसा मुंडा की जयंती पर बिहार के राज्यपाल ने किया नमन हर जिले में एक बड़े क्लस्टर का होगा निर्माण