DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एएन कॉलेज को नैक से तीसरी बार ग्रेड ‘ए

नैक ने मगध विवि के पटना स्थित एएन कॉलेज को तीसरी बार ग्रेड ‘ए दिया है। पिछले माह नैक की टीम कैंपस का मूल्यांकन करने आई थी। हालांकि, उम्मीद की जा रही थी कि ‘ए प्लस ग्रेड मिलेगा। कॉलेज को 3.27 सीजीपीए मिला है। वहीं पहली बार मूल्यांकन कराने वाले बिहार के कई कॉलेजों को ‘बी या ‘सी ग्रेड मिला है। आरा स्थित एचडी जैन कॉलेज और जगजीवन राम कॉलेज तथा सासाराम स्थित शेरशाह कॉलेज और मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण जुबली लॉ कॉलेज को ‘बी प्लस ग्रेड मिला है। पूर्णिया के मुंशीलाल आर्या कॉलेज, पूर्णिया के ही पूर्णिया कॉलेज, मुंगेर के आरडी एंड डीजे कॉलेज, समस्तीपुर के रामबहादुर सिंह कॉलेज, सारण के राम जयपाल कॉलेज, मोकामा(पटना) के राम रतन सिंह कॉलेज और पश्चिमी चंपारण के टीपी वर्मा कॉलेज को ग्रेड ‘बी मिला है। दूसरी बार मूल्यांकन करानेवाले मधुबनी के भारती मंदन कॉलेज को ‘बी ग्रेड मिला है। वहीं पहली बार ही मूल्यांकन करानेवाले बड़हिया(लखीसराय) के बद्री नारायण मुक्तेश्वर सिंह कॉलेज, मुजफ्फरपुर के एमपी सिन्हा साइंस कॉलेज और बिहटा के गदाधर आचार्य जनता कॉलेज को ग्रेड ‘सी मिला है।

स्वायत्ता की मांग करेगा एएन कॉलेज : प्राचार्य

पटना।कार्यालय संवाददाता

एएन कॉलेज को लगातार तीसरी बार नैक से ग्रेड ‘ए मिला है। ऐसे में अब एक सवाल उठने लगा है कि क्या एएन कॉलेज विश्वविद्यालय से स्वायत्ता की मांग करेगा। कॉलेज के प्राचार्य डॉ. एसपी शाही का कहना है कि कॉलेज को स्वायत्ता मिलनी चाहिए। नैक से तीसरे साइकल में ग्रेड ए मिलने पर इसका प्रावधान है। यदि कॉलेज स्वायत्त होता है तो समय पर परीक्षा, रिजल्ट सहित कई फायदे विद्यार्थियों को मिलेंगे। डॉ. शाही के अनुसार यदि एएन कॉलेज को स्वायत्ता मिलती है तो वे एकेडमिक में पटना विवि के बराबर कॉलेज को कर देंगे। हालांकि, यह आसान नहीं होगा। क्योंकि कॉलेज सिर्फ मांग कर सकता है। पटना विवि के अंग्रेजी के विभागाध्यक्ष प्रो. शिवजतन ठाकुर के अनुसार देश में स्वायत्त कॉलेज का चलन तेजी से बढ़ रहा है। गौरतलब है कि पटना विवि का पटना वीमेंस कॉलेज इसकी मांग कर रहा है। उसे लगातार ग्रेड ‘ए मिला है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:AN College gets 'A' for third time from NAAC