aao rajneeti karein Our election issue also became dignity of country along with unemployment - आओ राजनीति करें: बेरोजगारी के साथ-साथ देश की गरिमा भी बने हमारा चुनावी मुद्दा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आओ राजनीति करें: बेरोजगारी के साथ-साथ देश की गरिमा भी बने हमारा चुनावी मुद्दा

आपके अपने अखबार ‘हिन्दुस्तान’ के अभियान आओ राजनीति करें के तहत आयोजित ‘वन मिनट’ कार्यक्रम में गुरुवार को गांधी घाट पर युवाओं ने अपनी बात रखी। युवाओं ने इस बार के चुनाव में प्रमुख मुद्दों पर प्रकाश डाला।

बदहाल शिक्षा व्यवस्था और रोजगार बड़ा मुद्दा है। इसके अलावा देश की सुरक्षा भी सुनिश्चित हो। युवाओं ने गांधी घाट पर गुरुवार को वन मिनट में कई चुनावी मुद्दे गिनाए। आओ राजनीति करें के तहत आयोजित इस कार्यक्रम में युवाओं ने खुलकर विचार रखे। साथ ही कहा कि हमारा नेता साफ छवि का हो। 

युवाओं ने कृषि, गरीबी, बेरोजगारी और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा जैसे चुनावी मुद्दों को उठाया तो कुछ ने भारत की सभ्यता, संस्कार और संस्कृति की भी बात की। गांवों की बेरोजगारी, बदहाल शिक्षा व्यवस्था और बुनियादी विकास जैसे मुद्दे भी सामने उभरकर आये। वहीं, भ्रष्टाचार और महंगाई ने लोगों को एक स्वर में बांध दिया। लोगों ने एक स्वर में किसी पार्टी विशेष को नहीं बल्कि साफ छवि के प्रतिनिधि को चुनने को महत्वपूर्ण मुद्दा भी बताया।

कहने को तो सभी लोकलुभावन बातें बोल देते हैं पर वह नेता कर क्या सकता है, इस बात का ख्याल रखना होगा। कुछ लोगों ने बेरोजगारी को अपना चुनावी हथियार बना लिया है। युवाओं के हाथों में पूरी ताकत है, युवा ही कुछ बदलाव ला सकते हैं। 
- आदित्य आर्यन

इस बार का चुनावी मुद्दा विकास होना चाहिए। यूथ की हिस्सेदारी मायने रखती है। रोजगार, क्वालिटी एजुकेशन की व्यवस्था पर फोकस हो। भारत की गरिमा को बचाना है तो इस बार सभ्यता, संस्कृति और संस्कार भी चुनावी मुद्दे होने चाहिए। 
- दीपक कुमार

भारत में युवाओं की बहुत बड़ी आबादी है। जो भी प्रतिनिधि हो वह अपने मेनिफेस्टो में युवाओं को रखे। उनके रोजगार के लिए पॉलिसी बनाये। इस बार के मुद्दों में विधानसभा और लोकसभा में इनकी भागीदारी बढ़ाने की बात भी होनी चाहिए। 
- ओसामा खुर्शीद

चुनावी मुद्दों में वही बात आनी चाहिए, जिनका हमारे जीवन में रोज इस्तेमाल होता है, जैसे स्वास्थ्य और शिक्षा। साथ ही स्पेशल इकॉनोमिक जोन भी खोलना चाहिए, जिससे उस क्षेत्र के लोगों को सस्ता सामान उपलब्ध हो सके।
- एकलव्य कुमार 

शिक्षा का मुद्दा अहम है क्योंकि शिक्षा से ही किसी भी राष्ट्र का विकास हो सकता है। इसी से ही रोजगार भी पैदा होगा। देश की सुरक्षा भी अहम मुद्दा है। साथ ही वैश्विक पटल पर देश की छवि को मजबूत बताना भी मुद्दा बनना चाहिए।
- मोहित गोस्वामी

मेरे लिए चुनावी मद्दा देश की जीडीपी में बढ़ोतरी को लेकर ही है। देश में इंफ्रास्ट्रक्चर और इंडस्ट्रीज का विकास हो, क्वालिटी एजुकेशन ही इस बार के चुनावी मुद्दे हैं। लोगों को स्किल आधारित रोजगार भी मिलने चाहिए।
- अनिमेष सागर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:aao rajneeti karein Our election issue also became dignity of country along with unemployment

'हिन्दुस्तान स्मार्ट' अख़बार की कॉपी पाने के लिए, नीचे दिए फॉर्म को भरे

* आपके द्वारा दी गयी जानकारी किसी से साझा नहीं की जाएगी व केवल हिन्दुस्तान अख़बार द्वारा आपसे संपर्क करने के लिए इस्तमाल की जाएगी।