Tuesday, January 18, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार पटनासाहित्य और संस्कृति के बिना राष्ट्र भूमि का टुकड़ा : तारकिशोर प्रसाद

साहित्य और संस्कृति के बिना राष्ट्र भूमि का टुकड़ा : तारकिशोर प्रसाद

हिन्दुस्तान टीम,पटनाNewswrap
Sun, 28 Nov 2021 10:10 PM
साहित्य और संस्कृति के बिना राष्ट्र भूमि का टुकड़ा : तारकिशोर प्रसाद

जगदंबी प्रसाद यादव स्मृति प्रतिष्ठान तथा अंतरराष्ट्रीय हिंदी परिषद के संयुक्त तत्वावधान में बिहार विधान परिषद सभागार में राजभाषा संगोष्ठी एवं काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। उद्घाटन उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने किया। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि जगदंबी बाबू ने राष्ट्रभाषा हिंदी को बढ़ाने के लिए राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रयास किया। उन्होंने कहा कि यदि हम अपनी भाषा और संस्कृति के साथ नहीं चले तो काफी पीछे रह जाएंगे। भाषा साहित्य और संस्कृति के बिना राष्ट्र राष्ट्र नहीं बल्कि भूमि का टुकड़ा रह जाता है।

अध्यक्षता अंतरराष्ट्रीय हिंदी परिषद के अध्यक्ष तथा भारत सरकार हिंदी सलाहकार समिति के सदस्य वीरेंद्र कुमार यादव ने की। मौके पर जगदंबी प्रसाद यादव स्मृति संस्थान की महासचिव डॉ. अंशुमाला, उद्योग विभाग के विशेष सचिव दिलीप कुमार क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी ताबिशी बहल पांडे आदि ने भी अपने विचार रखे। मौके पर युवा साहित्यकार डॉ. आरती कुमारी की पुस्तक धड़कनों का संगीत का विमोचन उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद तथा अन्य अतिथियों द्वारा किया गया। डॉ. भगवती प्रसाद द्विवेदी, दिलीप कुमार, मधुरेश कांत शरण, डॉ. सुमेधा पाठक, डॉ. विजय कुमार पांडे तथा डॉ. साकेत सहाय को सम्मानित भी किया गया। राजभाषा संगोष्ठी के बाद वरिष्ठ कवि भगवती प्रसाद द्विवेदी की अध्यक्षता में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया।

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें