अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

औरंगाबाद में युवक की मौत के बाद हिंसक भीड़ ने दर्जन भर वाहनों को फूंका

औरंगाबाद जिले के बारुण थाना क्षेत्र में झूमर डिहरा के समीप गुरुवार को ट्रैक्टर से कुचल कर एक युवक की मौत होने के बाद भीड़ हिंसक हो गई। भीड़ ने एक दर्जन से अधिक वाहनों को फूंक दिया और थाने पर जमकर पथराव किया। पुलिस ने आत्मरक्षार्थ कई राउंड फायरिंग भी की लेकिन भीड़ पर इसका कोई असर नहीं हुआ। औरंगाबाद से गई क्विक रिस्पांस टीम (क्यूआरटी) ने लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ने का प्रयास किया और करीब दो घंटे तक बारुण बाजार रणभूमि में बदला रहा।

जानकारी के अनुसार, बारुण थाना के नीम टोला गांव निवासी गौतम कुमार अपने भाई जयप्रकाश कुमार को एनटीपीसी में छोड़ कर लौट रहा था। झूमर डिहरा के समीप उसे अज्ञात वाहन ने कुचल दिया और घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। बारुण पुलिस यहां पहुंची और शव को लेकर जाने लगी तभी पीछे से पहुंची भीड़ ने एनिकट के समीप शव को पुलिस जीप से उतार लिया। ग्रामीणों ने शव को थाना के समीप रख कर हंगामा करना शुरू कर दिया। इसी दौरान शव हटाने को लेकर पुलिस बलों और स्थानीय ग्रामीणों के बीच भिड़ंत हो गई। आक्रोशित लोगों ने थाने पर पथराव कर दिया जिसके बाद पुलिस ने भी हवाई फायरिंग कर भीड़ को खदेड़ने का प्रयास किया। इसके बाद भी लोग नहीं माने और उपद्रव शुरू हो गया। स्थानीय लोगों ने थाना के बाहर लगे एक ट्रक में आग लगा दी और देखते ही देखते दर्जनों गाड़ियों को फूंक दिया। थाना गेट को तोड़ते हुए भीड़ परिसर में घुस गई और पुलिस की चेतावनी के बावजूद यहां लगे वाहनों में आग लगा दी गई। इसमें ट्रक, ट्रैक्टर, बाइक और शराब मामले में जब्त किए गए वाहन शामिल हैं।

भीड़ के द्वारा किए गए पथराव में बारूण थानाध्यक्ष नरोत्तम चंद्र, नरारी कला खुर्द थानाध्यक्ष प्रशांत कुमार, एसआई संतोष कुमार, एएसआई सी.के.पासवान, शहजाद अख्तर, कांस्टेबल धीरेन्द्र कुमार सहित तीन अन्य सिपाही घायल हो गए। इसकी तत्काल सूचना वरीय पदाधिकारियों को दी गई जिसके बाद क्यूआरटी को रवाना किया गया।

अतिरिक्त पुलिस बलों ने पहुंचते ही भीड़ पर लाठी चार्ज कर दिया और आंसू गैस के गोले भी छोड़े। औरंगाबाद के एएसपी अभियान राजेश कुमार सिंह, एसडीओ प्रदीप कुमार, एसडीपीओ अनुप कुमार सहित अन्य पदाधिकारी भी बारुण पहुंचे। फायर ब्रिगेड की टीम भी यहां पहुंची और आग पर काबू पाया गया।

इस संबंध में एसपी डा. सत्यप्रकाश ने बताया कि 30 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मामले की जांच की जा रही है। एसपी ने पुलिस फायरिंग की बात से इंकार किया है और कहा कि केवल आंसू गैस के गोले दागे गए हैं। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हल्का बल प्रयोग किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:69/5000 aurangaabaad mein yuvak kee maut ke baad hinsak bheed ne darjan bhar vaahanon ko phoonka After the death of youth in Aurangabad, violent mob blew dozens of vehicles