DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कामयाबी: पटना में जेसीबी फूंकने वाले 6 नक्सली गिरफ्तार

प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना पुलिस ने सड़क निर्माण में लगी जेसीबी फूंकने के मामले में छह वांटेड नक्सलियों को पालीगंज से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सलियों ने पालीगंज में पांच जनवरी की रात कोडिहरा गांव के प्राथमिक स्कूल में लगी जेसीबी को आग के हवाले कर दिया था। साथ ही ठेकेदार से पूरे निर्माण में खर्च होने वाली राशि में से 10 प्रतिशत की लेवी मांगी थी।  गिरफ्तार नक्सलियों में खिरीमोड़ थाना क्षेत्र के मुंगिला गांव के मुन्ना यादव, विमल साव व गणेश यादव और कोडिहरा के रामनाथ यादव व राकेश यादव के अलावा गद्दोपुर का सियाराम शर्मा उर्फ पुजारी शामिल हैं।

एसपी सिटी पूर्वी राजेंद्र कुमार भील ने बताया कि नक्सली दोबारा बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। इसी बीच एडिशनल एसपी ऑपरेशन अनिल कुमार सिंह को खबर मिली कि लेवी मांगने और जेसीबी जलाने वाले नक्सली खीरीमोड़ थाना क्षेत्र के मुंगिला बिगहा गांव में इकट्ठा हुए हैं। पुलिस टीम ने फौरन गुरुवार देर रात गांव की घेराबंदी कर सभी को गिरफ्तार कर लिया। 

क्या है मामला
दरअसल, ग्रामीण कार्य विभाग खिरीमोड़ थाना के कटका गांव से कोडिहरा गांव तक सड़क निर्माण करा रहा है। इसी में मिट्टी भराई का काम जेसीबी से होता था। पांच जनवरी की रात गांव के प्राथमिक विद्यालय में खड़ी जेसीबी को नक्सलियों ने आग के हवाले कर दिया गया था। इस मामले में जेसीबी मालिक विवेकानंद सिंह ने थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर कराई थी। इसके बाद 10 जनवरी को प्रतिबंधित संगठन भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) ने गांव के बाहर बिजली के पोल पर पर्चा चिपका इस घटना की जिम्मेदारी ली और सड़क निर्माण में लगी कंपनी के ठेकेदार से 10 प्रतिशत लेवी मांगी थी। इसके बाद डीएसपी मनोज कुमार के नेतृत्व में गठित टीम ने जांच शुरू की तो कोडिहरा के रामनाथ यादव का संबंध प्रतिबंधित संगठन से होने के पुख्ता सबूत मिले।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:6 Naxalites arrested for burning JCB in Patna