DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना मेट्रो से 26 लाख आबादी को होगा फायदा

पटना मेट्रो से 26 लाख आबादी को होगा फायदा

पटना में बनने वाली मेट्रो से 26.33 लाख आबादी लाभान्वित होगी। केंद्रीय कैबिनेट द्वारा बुधवार शाम स्वीकृत मेट्रो प्रोजेक्ट की लंबाई 31.39 किमी होगी, जो दो कॉरीडोर में विभाजित है। इस पर 13411.24 करोड़ की अनुमानित लागत आएगी। निर्माण का खर्च केंद्र व राज्य सरकार द्वारा 20 - 20 प्रतिशत उठाया जाएगा, जबकि 60 प्रतिशत धनराशि राज्य सरकार लोन लेगी।  

राजधानी में मेट्रो संचालन की बात वर्ष 2013 में शुरू हुई थी। इसकी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) राइट्स ने तैयार की थी।  करीब दर्जनभर विभागों द्वारा इसके परीक्षण के बाद छह फरवरी 2019 को वित्त मंत्रालय के पब्लिक इनवेस्टमेंट बोर्ड ने मंजूरी दे दी। साथ ही पटना मेट्रो प्रोजेक्ट को केंद्रीय कैबिनेट भेजे जाने का रास्ता साफ हो गया था। 

भाजपा बोली-बिहार के लिए बड़ी सौगात
पटना मेट्रो की मंजूरी मिलने पर भाजपा नेताओं ने बिहार के लिए बड़ी सौगात बताया है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा कि पटना मेट्रो से पब्लिक ट्रांसपोर्ट की परिभाषा ही बदल जाएगी। पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव, श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा, कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार, नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा ने कहा कि बिहार भी अब मेट्रो क्लब में शामिल हो गया है। देवेश कुमार, सम्राट चौधरी, नीतीश मिश्रा ने खुशी जताई।

मोदी ने जताया पीएम-सीएम का आभार
उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया है। मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रति भी आभार जताया है, जो लंबे समय से इसके लिए प्रयासरत थे। कहा कि पटनावासियों का भी मेट्रो के सफर का वर्षों पुराना सपना पूरा होगा।

यहां बनाए जाएंगे मेट्रो स्टेशन
दानापुर से मीठापुर वाली लाइन घनी आबादी वाले क्षेत्र राजा बाजार, सचिवालय, हाईकोर्ट, ला यूनिवर्सिटी स्टेशन से गुजरेगी, जबकि पटना जंक्शन से नया आईएसबीटी वाली लाइन गांधी मैदान, पीएमसीएच, पटना यूनिवर्सिटी, राजेंद्र नगर, महात्मा गांधी सेतु, ट्रांसपोर्ट नगर, आईएसबीटी स्टेशन होंगे। 

पटना में भी शिलान्यास समारोह
पटना में विधिवत शिलान्यास समारोह पटना जू के सामने खाली जमीन पर होगा। इसमें केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी मौजूद रह सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने की सतत निगरानी 
पटना मेट्रो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट है। यही कारण है कि शुरुआत से ही सीएम इसकी लगातार निगरानी कर रहे थे। नई मेट्रो पॉलिसी के अनुरूप जल्द संशोधित प्रोजेक्ट तैयार कराकर केंद्र को भेजने का मसला हो या विभिन्न विभागों द्वारा प्रोजेक्ट को लेकर लगाई गई आपत्तियों के निस्तारण की बात, मुख्यमंत्री लगातार अधिकारियों को इस संबंध में निर्देशित करते रहे। उन्होंने पटना मेट्रो की स्वीकृति के लिए केंद्र सरकार से खुद बात भी की। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:26 lakh population will benefit from Patna Metro