DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना नगर निगम के दस फीसदी उम्मीदवार दागी

पटना नगर निगम के चुनाव में दस फीसदी उम्मीदवार दागी हैं। निगम के कुल 1008 उम्मीदवारों में से 866 उम्मीदवारों के विश्लेषण के आधार पर बिहार इलेक्शन वॉच एवं एडीआर (एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स) ने जारी रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी। बिहार इलेक्शन वॉच के संयोजक राजीव कुमार ने गुरुवार को एएन सिन्हा इंस्टीट्यूट में इस रिपोर्ट को जारी किया। रिपोर्ट के अनुसार 142 उम्मीदवारों के शपथ पत्र उपलब्ध नहीं होने के कारण उन्हें विश्लेषण में शामिल नहीं किया गया है। 66 उम्मीदवारों पर गंभीर अपराध के मामले : श्री कुमार ने बताया कि 866 उम्मीदवारों में 88 के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें 66 पर गंभीर आपराधिक मामले हैं। उन्होंने बताया कि हत्या से संबंधित मामले घोषित करने वाले आठ तथा हत्या के प्रयास के मामले घोषित करने वाले 14 उम्मीदवार हैं। वहीं , महिलाओं के ऊपर अत्याचार से संबंधित मामले घोषित करने वाले उम्मीदवारों की संख्या 16 है। 163 करोड़पति हैं चुनाव मैदान में : रिपोर्ट के अनुसार 19 प्रतिशत (163) उम्मीदवार करोड़पति हैं। उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 73.24 लाख रुपये है। वहीं, छह उम्मीदवारों ने अपनी संपत्ति शून्य घोषित की है। अधिकतम देनदारी घोषित करने वाले दस उम्मीदवार भी हैं। रिपोर्ट के अनुसार 5वीं से 12 वीं तक की शैक्षणिक योग्यता घोषित करने वाले उम्मीदवारों की संख्या 44 फीसदी यानी 381 है। जबकि 28 प्रतिशत (240) उम्मीदवारों ने अपनी योग्यता स्नातक और उससे अधिक घोषित की है। 277 उम्मीदवार केवल साक्षर हैं और 18 उम्मीदवार असाक्षर हैं। 76 फीसदी उम्मीदवार 25 से 50 वर्ष के : रिपोर्ट के अनुसार 76 प्रतिशत (660) उम्मीदवारों की उम्र 25 से 50 वर्ष के बीच हैं। वहीं, 19 प्रतिशत (161) उम्मीदवारों की आयु 51 से 76 वर्ष है। इस मौके पर मधु श्रीवास्तव, अजय कुमार व हेमलता सहित अन्य प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:10% of Patna municipal corporation tainted candidates