DA Image
21 सितम्बर, 2020|5:04|IST

अगली स्टोरी

दस बीघा जमीन के विवाद में अब तक तीन की गई जान

default image

मृतक पंकज कुमार व आरोपित भोला सिंह के बीच दस बीघा जमीन को लेकर पूर्व से विवाद चल रहा है। इस विवाद में पूर्व में दोनों के पिता की जान जा चुकी है। पंकज समेत तीन लोग अब तक मारे जा चुके हैं। दोनों गोतिया हैं व चचेरे भाई बताये जाते हैं। विवाद के कारण ही भोला सिंह परिजनों समेत घर से फरार रहता था। पुलिस के मुताबिक वह नवादा में कहीं रह रहा था। भोला सिंह द्वारा इससे पूर्व कई बार पुलिस से शिकायत की जा चुकी थी कि पंकज उसे गांव पर चढ़ने नहीं देता है व उसकी दस बीघा जमीन पर अपना कब्जा करना चाहता है। इस बात पर पुलिस- प्रशासन ने दोनों के ऊपर निषेधात्मक कार्रवाई की थी। परंतु दोनों के बीच अब भी तनाव बना था। संभवत: इसी कारण पंकज की हत्या कर दी गई। हालांकि पुलिस के मुताबिक अनुसंधान में ही हत्या के कारणों का स्पष्ट खुलासा होगा।

भाई के बयान पर चार पर हत्या का केस

मृतक के छोटे भाई स्व. नवल किशोर सिंह के पुत्र रौशन कुमार के बयान पर चार लोगों के विरुद्ध हत्या की प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। इनमें गंगटा गांव के स्व. लालो सिंह का बेटा भोला सिंह उर्फ सर्वोदय सिंह व भोला सिंह के तीन बेटे अविनाश सिंह, बबलू सिंह व चोटानी सिंह उर्फ सुबोध सिंह शामिल हैं। रौशन के मुताबिक सुबह करीब पौने आठ बजे उनका भाई पंकज कुमार चचेरी बहन फ्रूटी कुमारी को लेकर नवादा गढ़पर स्थित अपने मकान से गांव गंगटा के लिए बाइक से निकला। अपने भाई के पीछे- पीछे रौशन भी घर से बाइक से निकला। इसी बीच करीब सवा आठ बजे घंघारी बिगहा गांव के समीप दो बाइक पर आये आरोपितों ने उसके भाई की बाइक को घेर लिया। उसकी बहन को उतार कर धक्का दे दिया, जिससे वह वहीं गिर गयी। आरोपितों की मंशा देखकर पंकज भागने लगा। परंतु आरोपितों ने पीछाकर बगहियां पुल के समीप उनके भाई को घेर लिया व भोला सिंह के कहने पर उसके तीनों बेटों ने पिस्टल से अंधाधुंध गोली चलाकर उनकी हत्या कर दी व भाग निकले। उनके भाई की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी।

दुष्कर्म व मारपीट में बंद था पंकज

पुलिस के मुताबिक पंकज पिछले कुछ माह से दुष्कर्म व मारपीट के मामले में जेल में बंद था। उसे दुष्कर्म मामले में गिरफ्तार किया गया था, जबकि मारपीट में रिमांड किया गया था। दोनों ही मामले प्रतिद्वंदी पक्ष द्वारा दर्ज कराये गये थे। वह एक-डेढ़ माह पूर्व ही जेल से बाहर आया था।

चार मामले हैं दोनों पर दर्ज

दोनों के ऊपर इससे पूर्व अकबरपुर थाने में चार मामले दर्ज बताये जाते हैं। इनमें हत्या, दुष्कर्म व मारपीट के मामले शामिल हैं। पंकज व उसके परिजनों पर तीन मामले हैं। जबकि भोला सिंह व उसके परिजन एक मामले में आरोपित हैं। पंकज के ऊपर भोला सिंह के पिता की हत्या, दुष्कर्म व मारपीट के मारपीट का मामला चल रहा था। उसके पिता की हत्या 2016 में गोली मारकर कर दी गयी थी। जबकि पंकज के पिता की हत्या 2017 में करंट लगाकर कर दी गयी थी। इस मामले में भोला सिंह व उसके परिजन आरोपित हैं।

गिरफ्तारी को लेकर किया जाम

पंकज की हत्या से आक्रोशित लोगों ने पहले सदर अस्पताल के सामने व बाद में प्रजातंत्र चौक पर मृतक की लाश सड़क पर रखकर मार्ग अवरूद्ध कर दिया। लोग त्वरित प्रशासनिक कार्रवाई व गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। कुछ लोगों का आरोप था कि आरोपितों के विरुद्ध वारंट निर्गत था, परंतु पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर रही थी। यदि उनकी गिरफ्तारी हो गयी होती तो शायद यह घटना नहीं होती। हालांकि पुलिस के मुताबिक सभी जमानत पर हैं।

तीन बार पूर्व में हो चुका था हमला

मृतक के भाई ने पुलिस को दिये गये बयान में बताया कि पंकज पर पूर्व में आरोपितों द्वारा तीन बार हमला किया जा चुका था। परंतु तीनों में ही वह भाग्यवश बाल-बाल बच गया था। इस मामले में प्राथमिकी भी दर्ज है। पर मंगलवार को हुए हमले में भाग्य ने उसका साथ नहीं दिया व उसकी मौत हो गयी।

छह गोलियां मारी गयी थी

पंकज को शरीर के विभिन्न हिस्सों में नजदीक से छह गोलियां मारी गयी थी। दो गोलियां उसके सिर में लगी थी, जबकि एक- एक दोनों कंधों पर लगी। इसके अलावा एक गोली कमर में तथा एक गोली जांघ के पिछले हिस्से में लगी थी। यही कारण था कि पंकज ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया।

अपनी छोड़ पंकज की बाइक ले भागे

बदमाश वहां दो बाइक से आये थे। परंतु वह अपनी एक बाइक घटनास्थल पर ही छोड़कर पंकज की बाइक लेकर भाग निकले। कयास लगाया जा रहा है कि उसकी बाइक किसी कारणवश स्टार्ट नहीं हुई, जिसके कारण वे उस बाइक को छोड़ पंकज की बाइक लेकर निकल गये। पुलिस ने बाइक जब्त कर ली है।

दोनों के बीच जमीन विवाद को लेकर 5- 6 वर्षों से आपसी प्रतिद्वंदिता चल रही थी। दोनों के ऊपर हत्या व मारपीट आदि के कई मामले दर्ज हैं। इसी बात को लेकर सुबह पंकज कुमार नामक युवक की हत्या कर दी गयी। वह एक- डेढ़ माह पहले ही जेल से बाहर आया है। आरोपितों की गिरफ्तारी के निर्देश दिये गये हैं। पुलिस छापेमारी कर रही है। - संजय कुमार, रजौली एसडीपीओ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Three killed in ten bigha land dispute so far