DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जंगली भालुओं ने हमला कर किसान को नोंचा

कौआकोल/रोह। एसं/निप्र

कौआकोल प्रखंड क्षेत्र के हेठली मंझिला गांव के बधार में रविवार की सुबह जंगली भालुओं के झुण्ड ने किसानों पर हमला कर दिया। जिससे एक वृद्ध किसान राजकुमार राजवंशी बुरी तरह घायल हो गया। घटना उस वक्त हुई जब किसान अपने खेत में काम कर रहा था। इसी बीच तीन की संख्या में रहे भालू ने हमला कर उसे बुरी तरह नोंच डाला। भालू के हमले से लहूलुहान राजकुमार ने शोर मचाया। शोर सुनकर आसपास के लोग दौड़े। जिसके बाद भालू जंगल की ओर भाग गए। घायल किसान को कौआकोल प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बतायी गई है।

पहले भी हो चुकी है घटना:

इस घटना के पूर्व भी कौआकोल व रोह प्रखंड क्षेत्र में कई बार जंगली भालू के हमले में ग्रामीणों के घायल होने की घटना हो चुकी है। रोह के सिउर गांव के खरिजामा टोले में भी 30 मई 2018 को इसी तरह की घटना हुई थी। इस घटना में भालू के झुण्ड ने भोला राम के 40 वर्षीय बेटे युगल राम को बुरी तरह नोंच दिया था। युगल टोले से दक्षिण दिशा में जंगल की ओर शौच करने गया था। इसी दौरान चार की संख्या में रहे भालू ने उस पर हमला बोल दिया। भालुओं ने युगल के शरीर के कई हिस्से को बुरी तरह नोंच दिया था। किसी प्रकार उसकी जान बच सकी थी।

पटना से आयी थी टीम:

चार मार्च 2018 को कौआकोल थाने के पाली गांव में भालुओं ने झुंड ने हमला कर महेश यादव नामक ग्रामीणा को बुरी तरह जख्मी कर दिया था। उसी दिन ओखरिया गांव में घुस आये एक भालू ने तबाही मचाई थी। बाद में भालू पेड़ पर चढ़ गया। पटना से आयी वन विभाग की टीम उसे पकड़कर ले गयी व बाद में जंगल में छोड़ दिया।

जलश्रोतों के सूखने से आ रहे:

गौरतलब है कि कौआकोल व रोह प्रखंड क्षेत्र के जंगलों में पेड़-पौधों की संख्या लगातार घट रही है। वहीं जलश्रोत भी सूखने लगे हैं। लिहाजा जंगली जानवरों को जंगल में भोजन-पानी की समस्या से जूझना पड़ता है। भोजन-पानी की तलाश में भालू, हिरण, नीलगाय जैसे जंगली जानवर आवासीय इलाके में आ जाते हैं। ऐसे हालात में इंसानों को जंगली जानवरों के कोपभाजन का शिकार बनना पड़ रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The wild bears attacked the farmer