DA Image
29 फरवरी, 2020|7:19|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनावश्यक रूप से अस्पताल में पड़े बंदी हटाएं: डीएम

default image

नवादा के डीएम कौशल कुमार ने अनावश्यक रूप से कारा अस्पताल में भर्ती बंदियों को जेल वार्ड में शिफ्ट करने का निर्देश दिया है। डीएम सोमवार को कारा अस्पताल के औचक निरीक्षण के लिए जेल पहुंचे थे। उस वक्त कारा अस्पताल में करीब बीस बंदी मौजूद थे। डीएम के निर्देश पर सिविल सर्जन व एसीएमओ ने बंदियों के प्रिसक्रिप्सन की जांच की। जांच के क्रम में यह बात सामने आयी कि अस्पताल में भर्ती कई बंदियों को यहां रहने की जरूरत नहीं है। डीएम ने सिविल सर्जन को आज ही रिपोर्ट देकर ऐसे बंदियों को यहां से हटाने का निर्देश दिया। निरीक्षण के क्रम में अस्पताल में प्रतिनियुक्त डाक्टर ओमप्रकाश मौजूद नहीं पाये गये। जबकि फार्मासिस्ट, ड्रेसर व लैब टेक्नीशियन आदि मौजूद पाये गये। जेल प्रशासन द्वारा बताया गया कि डाक्टर की ड्यूटी सोमवार को नरहट पीएचसी में होती है। मौके पर डीएम के साथ सदर एसडीओ अनु कुमार, सिविल सर्जन डा. श्रीनाथ प्रसाद व सदर अस्पताल के एसीएमओ डा. उमेश चंद्रा के अलावा नवादा कारा मंडल के काराधीक्षक महेश रजक व उपाधीक्षक राम बिलास दास भी मौजूद थे।

व्यवस्था में सुधार लाने के निर्देश

डीएम ने काराधीक्षक को कारा अस्पताल की व्यवस्था में सुधार लाने के निर्देश दिये। निरीक्षण के क्रम में अस्पताल में लगे कई खराब व पुराने पंखों को बदलने का निर्देश दिया गया। अस्पताल में बेड की कमी को दूर करने के लिए अतिरिक्त बेड की व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया गया। अस्पताल में आ रहे पानी की धीमी गति को देखते हुए डीएम ने अतिरिक्त मोटर पंप लगाने का निर्देश दिया। इस दौरान कारा अस्पताल में मौजूद संसाधनों का जायजा लिया गया व आवश्यक निर्देश दिये गये। काराधीक्षक ने बताया कि अस्पताल के डाक्टर के आने पर वैसे बंदियों को वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाएगा, जिन्हें यहां भर्ती रहने की आवश्यक्ता नहीं है। अन्य व्यवस्था भी ठीक करायी जा रही है।

वर्जन

डीएम के नेतृत्व में कारा अस्पताल का औचक निरीक्षण किया गया। बंदियों को दी जा रही दवाओं की भी जांच की गयी। वैसे बंदियों को अस्पताल से वार्ड में शिफ्ट करने का निर्देश दिया गया, जिन्हें यहां भर्ती रहने की जरूरत नहीं है। सिविल सर्जन की रिपोर्ट पर उन्हें आज ही शिफ्ट करने का निर्देश दिया गया। अस्पताल में पायी गई कुछ कमियों को दूर करने का भी निर्देश दिया गया है।

अनु कुमार, सदर एसडीओ, नवादा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Remove captive in hospital unnecessarily DM