DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  नवादा  ›  कोरोना से वृद्ध की मौत, खतरा अभी टला नहीं

नवादाकोरोना से वृद्ध की मौत, खतरा अभी टला नहीं

हिन्दुस्तान टीम,नवादाPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:40 PM
कोरोना से वृद्ध की मौत, खतरा अभी टला नहीं

नवादा। हिन्दुस्तान संवाददाता

नवादा में कोरोना संक्रमण से फिर एक मौत हुई। सदर अस्पताल स्थित नशा मुक्ति वार्ड में संचालित डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में इलाजरत एक वृद्ध ने सोमवार अहले सुबह दम तोड़ दिया। अकबरपुर प्रखंड के दीरी निवासी राजेन्द्र सिंह का डीसीएचसी में करीब 10 दिनों से इलाज जारी था। उनके हालात भी सुधरे, लेकिन अंततः कोरोना वायरस से जंग हार गए। सदर अस्पताल उपाधीक्षक डॉ. एस. डी. अरैयर ने उनके मौत की पुष्टि की है। भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के गाइडलाइन के अनुसार मृतक के शव का अंतिम संस्कार किया गया। राष्ट्रीय जनता दल अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष अमित कुमार उर्फ सरकार, एम्बुलेंस ड्राईवर शिशुपाल एवं अन्य ने शव को उठाने में सहयोग किया। मृतक के पुत्र अरुण सहित अन्य ने बिहारी घाट स्थित मुक्तिधाम में उनका अंत्येष्टि संस्कार किया। जिले में कोरोना संक्रमण से मरनेवालों की संख्या 63 हो गई है। कोरोना की दूसरी लहर में 35 संक्रमितों की जान जा चुकी है। इधर, डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में नए संक्रमितों का भर्ती होना जारी है। फिलहाल, कोरोना का खतरा नहीं टला है। नागरिकों को अनिवार्य रूप से मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के पालन की सलाह दी गई है।

लगातार मिल रहे नए संक्रमित, सावधानी जरूरी

जिले में कोरोना संक्रमितों का मिलना जारी है। मई के अंतिम सप्ताह में भी लगातार संक्रमण के मामले मिल रहे हैं। रविवार को जिलेभर में 2884 संदिग्धों की सैम्पल जांच की गई। इनमें 08 लोगों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि की गई है। दो दिनों के बाद संक्रमितों की संख्या में फिर से इजाफा हुआ है। इधर, सदर अस्पताल स्थित डीसीएचसी में भी नए संक्रमित भर्ती हो रहे हैं। जिले में अब भी कोरोना वायरस का संक्रमण प्रभावी है। कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है। नागरिकों को अब भी एहतियात बरतने की जरूरत हैं।

सर्दी-खांसी और बुखार के मरीज पर रखें विशेष ख्याल

हाल के दिनों में चक्रवाती तूफान यास जिलेभर में प्रभावी रहा। इस दौरान मौसम में बदलाव आया। लोगों में सर्दी-खांसी और बुखार के लक्षण दिखे हैं। ऐसे में इन मरीजों का विशेष ख्याल रखा जाना लाजिमी हो गया है। सदर अस्पताल स्थित डीसीएचसी में भर्ती हो रहे मरीजों के कई मामलों में देखा गया है कि लोगों को पहले सर्दी-खांसी और बुखार जैसे लक्षण आएं और लोगों ने नीम-हकीम, झोलाछाप डॉक्टर या दवा दुकानों से कोई दवा लेकर खा ली। अगले पांच-छह दिनों में मर्ज बढ़ा। जब लोगों को सांस लेने में तकलीफ हुई, तो सदर अस्पताल में भर्ती हुए। जांच में मरीज कोरोना संक्रमित मिले। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए उन्हें उच्च चिकित्सा संस्थानों को रेफर किया गया।

जिले में कोरोना के 73 सक्रिय मामले

जिलेभर में कोरोना वायरस संक्रमण के 73 सक्रिय मामले हैं। इनमें 61 बिना लक्षण और हल्के लक्षण वाले मरीजों का इलाज होम आईसोलेशन में चल रहा है। एएनएम मरीजों के घर जाकर होम आईसोलेशन ट्रैकिंग एप्प के माध्यम से ऑक्सीजन लेवल और शरीर का तापमान अपडेट कर रही है। मरीजों को दवाओं की किट भी दी गई है। अन्य 12 संक्रमित मरीज जिला मुख्यालय स्थित डीसीएचसी में इलाजरत हैं। जिले में अबतक 8724 कोरोना संक्रमितों की पुष्टि की गई है। जिसमें 8600 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना की दूसरी लहर में 4970 लोग संक्रमित हुए हैं। रविवार को जिले में 05 कोरोना संक्रमित स्वस्थ भी हुए हैं। लोगों ने कोरोना वायरस को हराया और कोविड वॉरियर बने।

संबंधित खबरें