DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  नवादा  ›  ऑड-ईवन फॉर्मूला अब भी जारी, 22 तक रहेगा प्रभावी
नवादा

ऑड-ईवन फॉर्मूला अब भी जारी, 22 तक रहेगा प्रभावी

हिन्दुस्तान टीम,नवादाPublished By: Newswrap
Wed, 16 Jun 2021 05:20 PM
ऑड-ईवन फॉर्मूला अब भी जारी, 22 तक रहेगा प्रभावी

नवादा। हिन्दुस्तान संवाददाता

नवादा में ऑड-ईवन फार्मूला अब भी जारी रहेगा। 22 जून तक इस व्यवस्था के तहत ही व्यवसायी अपनी दुकान व प्रतिष्ठान खोल सकेंगे। नए आदेश के तहत कपड़ा, बर्तन, जूता-चप्पल सहित कुछ अन्य दुकान और प्रतिष्ठान सम तिथि 16, 18, 20 और 22 जून को खोली जा सकेंगी। जबकि विषम अंकवाली तिथि 17, 19 और 21 जून को इलेक्ट्रिक और इलेक्ट्रॉनिक सामग्री, सोना-चांदी, फर्नीचर और अन्य दुकानों को खोलने को छूट दी गई हैं। लॉकडाउन में भी खुल रही जरूरी दुकानें व सेवाएं प्रतिदिन जारी रहेगी। अन्य दुकान व प्रतिष्ठानों को ऑड-ईवन फार्मूला के तहत खोला जायेगा। दुकान व प्रतिष्ठान खोलने सहित व्यापारिक गतिविधियों की समय अवधि में एक घंटे की बढ़ोत्तरी की गई है। अब ये सभी गतिविधियां सुबह 06 बजे से शाम 06 बजे तक संचालित होंगी। होटल, रेस्त्रां, स्वीट्स की दुकानें 09 बजे सुबह से 09 बजे रात तक होम डिलिवरी दे सकेंगे। निजी वाहनों का परिचालन जारी रहेगा। लेकिन रात्रि 08 बजे से प्रातः 05 बजे तक नाईट कर्फ्यू जारी रहेगा, इस दौरान कई प्रतिंबंध लागू रहेंगे। राज्य सरकार के गृह विभाग (विशेष शाखा) ने 15 जून, मंगलवार को पहले के प्रतिबंधों में संशोधन करके नए आदेश जारी किये हैं। जिला पदाधिकारी ने उक्त आदेश के आलोक में नवादा के लिए नए आदेश निर्गत कर दिये है। अब नए दिशा-निर्देशों के अनुसार जिलेवासी दुकान-प्रतिष्ठान खोलने के साथ व्यापारिक और आम गतिविधियां कर पायेंगे।

अब 05 बजे तक खुलेंगे सभी कार्यालय

जिले के निजी और सरकारी कार्यालय 50 फीसदी उपस्थिति के साथ खुलेंगे। सरकारी कार्यालयों में आगंतुकों का प्रवेश वर्जित रहेगा। कार्यालयों में कार्य अवधि को एक घंटा बढ़ाते हुए पूर्वाह्न 10 बजे से अपराह्न 05 बजे तक कर दिया गया है। कुछ अपवादों में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर जिला प्रशासन, पुलिस, सिविल डिफेंस, विद्युत आपूर्ति, जलापूर्ति, स्वच्छता, फायरब्रिगेड, स्वास्थ्य, पशु स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधन, कोषागार एवं उनसे संबंधित वित्त विभाग के कार्यालय, दूर संचार, डाक विभाग से संबंधित कार्यालय खाद्यान्न की खरीद संबंधित कार्यालय, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग की अत्यावश्यक गतिविधियों से संबंधित कार्यालय यथावत कार्य करेंगे। व्यवहार न्यायालय नवादा के न्यायिक प्रशासन संबंधी निर्णय उच्च न्यायालय पटना द्वारा लागू होंगे।

जरूरी दुकान व सेवाएं प्रतिदिन खुलेंगी

फल-सब्जी, मांस-मछली, दूध, डेयरी, आवश्यक खाद्य सामग्री की किराना, पीडीएस की दुकानें प्रतिदिन खोले जा सकेंगी। साथ ही विक्रेता ठेला पर फल एवं सब्जी की घूम-घूम कर बिक्री कर सकेंगे। खाद, बीज, कीटनाशक और कृषि यंत्र संबंधित प्रतिष्ठान व दुकानें भी प्रतिदिन निर्धारित समय अवधि प्रातः 06 बजे से शाम 06 बजे तक खोलने को अनुमति दी गयी है।

सम तिथि को खुलेंगी कपड़ा, सैलून व बर्तन की दुकानें

मंगलवार को जारी आदेश के तहत श्रेणी-02 के तहत कपड़े व रेडिमेड वस्त्र की दुकान, बर्तन, जूता-चप्पल, स्पोर्टस व खेल-कूद सामग्री, ड्राइ क्लीनर, टेलर, सैलून, पार्लर की दुकान शामिल की है। ये दुकानें सम अंक वाले तिथि को खोली जा सकेंगी। प्रशासन के नए दिशा-निर्देश के अनुसार, ये दुकान व प्रतिष्ठान 16, 18, 20 एवं 22 जून को खोली जा सकेगी। निर्धारित समय अवधि प्रातः 06 बजे से शाम 06 बजे तक होगा।

पंखा, कूलर व अन्य दुकानें खुलेंगी तीन दिन

इलेक्ट्रॉनिक एवं इलेक्ट्रिक गुड्स जैसे पंखा, कूलर, एयर कंडिशन, कम्प्यूटर, लैपटॉप, मोबाइल ( बिक्री एवं मरम्मत), फर्नीचर, सोना-चांदी की दुकान सहित अन्य सभी दुकानें जो किसी सूची में नहीं है। उनको विषम अंकों वाली तिथि को खोलने को आदेश दिया गया है। ये दुकान व प्रतिष्ठान 17, 19 और 21 जून को खुलेगीं। बाजार में भीड़भाड़ अधिक नहीं हो, इसके लिए इन दुकानों को मात्र तीन दिन ही खोलने को अनुमत प्रदान की गई है। राज्य सरकार के गृह विभाग (विशेष शाखा) द्वारा निर्धारित समय अवधि 22 जून तक सुबह 06 बजे से शाम 06 बजे तक ये दुकान व प्रतिष्ठान खोले जायेंगे। अन्य सभी प्रतिष्ठान वर्क फ्रॉम होम के आधार पर कार्य कर सकेंगे।

अपवाद वाले दुकान व सेवाएं अब भी समय सीमा से बाहर

कुछ अपवादों को छोड़कर बैंकिंग, बीमा एवं एटीएम संचालन से संबंधित प्रतिष्ठान, गैर बैंकिंग वित्तीय कम्पनियों के कार्यालय व गतिविधियां, औद्योगिक एवं विनिर्माण कार्य से संबंधित प्रतिष्ठान, सभी प्रकार के निर्माण कार्य, ई-कॉमर्स से जुड़ी सारी गतिविधियां एवं कुरियर सेवाएं, कृषि एवं इससे जुड़े कार्य, प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, टेलीकम्यूनिकेशन, इंटरनेट सेवाएं, ब्रॉडकास्टिंग एवं केबल सेवाओं संबंधित गतिविधियों, पेट्रॉल पम्प, एलपीजी, पेट्रॉलियम आदि संबंधित खुदरा एवं भण्डारण प्रतिष्ठान, कोल्डस्टोरेज एवं वेयरहाउसिंग सेवाएं, निजी सुरक्षा सेवाएं प्रतिदिन कार्य करेंगे। इनके लिए अनलॉक के दौरान किसी तरह की समय निर्धारित नहीं की गई है।

सिर्फ रात्रि कर्फ्यू में कई तरह के प्रतिबंध रहेंगे लागू

निजी वाहनों का परिचालन को छूट है। पब्लिक ट्रांसपोर्ट में निर्धारित बैठने की क्षमता के मात्र 50 प्रतिशत के उपयोग की अनुमति दी गई है। लेकिन रात्रि कर्फ्यू के दौरान रात 08 बजे से सुबह 05 बजे तक निजी वाहनों का परिचालन और पैदल चलना भी प्रतिबंधित रहेगा। स्वास्थ्य से जुड़ी गतिविधियों में संलग्न वाहन एवं स्वास्थ्य सेवा के लिए प्रयुक्त निजी वाहन, अनुमान्य कार्य संबंधित कार्यालयों के सरकारी वाहन, वन प्रबंधन में संलग्न वाहन को रात्रि कर्फ्यू के दौरान परिचालन की छूट हैं। लेकिन निजी वाहनों जिन्हें जिला प्रशासन द्वारा किसी विशेष काम के लिए ई-पास निर्गत किया गया है। सभी प्रकार के मालवाहक वाहन, वैसे निजी वाहन जिनमें हवाई जहाज या ट्रेन के यात्री यात्रा कर रहे हों और उनके पास टिकट होगा। सरकारी सेवकों एवं अन्य आवश्यक अनुमान्य सेवाओं के निजी वाहन, अन्तर्राज्यीय मार्गों पर अन्य राज्यों को जाने वाले निजी वाहन को रात्रि कर्फ्यू के दौरान परिचालन की अनुमति दी गई है। वाहनों के परिचालन संबंधी प्रतिबंधों के उल्लंघन की स्थिति में मोटरवाहन अधिनियम की धारा 179(1) के अन्तर्गत जुर्माना किया जा सकेगा। इसके लिए परिवहन विभाग दिशा-निर्देश जारी करेगा। निजी या सार्वजनिक वाहनों में यात्रियों का मास्क पहनकर ही यात्रा करने को अनुमति दी गई है।

अब भी बंद रहेंगे स्कूल, कॉलेज एवं शैक्षणिक संस्थान

जिले के सभी स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान, ट्रेनिंग एवं अन्य शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे। इस अवधि में राज्य सरकार के विद्यालय एवं विश्वविद्यालय द्वारा किसी भी तरह की परीक्षाएं भी नहीं ली जायेंगी। ऑनलाईन पठन-पाठन व्यवस्था को अनुमति रहेगी। सभी प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, खेल-कूद, शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं धार्मिक आयोजन और समारोह प्रतिबंधित होंगे। सभी धार्मिक स्थल आम जनों के लिए बंद रहेंगे। सभी सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, क्लब, स्विमिंग पूल, स्टेडियम, जिम, पार्क एवं उद्यान पूरी तरह बंद रहेंगे। सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी प्रकार के सरकारी एवं निजी आयोजन पर रोक रहेगी। विवाह समारोह अधिकतम 20 व्यक्तियों की उपस्थिति के साथ आयोजित किये जा सकते हैं, किन्तु इनमें डीजे एवं बारात जुलूस की इजाजत नहीं होगी। विवाह की पूर्व सूचना स्थानीय थाने को कम से कम 03 दिन पूर्व देनी होगी। अंतिम संस्कार व श्राद्ध कार्यक्रम के लिए 20 व्यक्तियों की अधिसीमा रहेगी।

होटल, रेस्त्रां एवं स्वीट्स की दुकानें पूर्ववत चलेंगी

अनलॉक 2.0 में जिले के होटल, रेस्त्रां एवं खाने की दुकानों का संचालन होगा। ये सिर्फ केवल होम डिलिवरी की सुविधा दे सकेंगे। ग्राहक खाद्य सामग्री इन स्थलों से लेकर जा सकते हैं, जिसे टेक अवे की सुविधा का नाम दिया गया है। सुबह 09 बजे से रात 09 बजे तक होटल, रेस्त्रां और स्वीट्स की दुकानों को संचालित किया जा सकेगा। आवासीय होटलों में अतिथि के लिए इन रूम डाइनिंग अनुमान्य होगा। अस्पताल एवं अन्य संबंधित स्वास्थ्य प्रतिष्ठान (पशु स्वास्थ्य सहित), उनके निर्माण एवं वितरण इकाईयां-सरकारी एवं निजी दवा दुकानें, मेडिकल लैब, नर्सिंग होम, एम्बुलेंस सेवाओं से संबंधित प्रतिष्ठान पहले की तरह की कार्य कर सकेंगी।

आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत दर्ज होगा मामला

जिले में लागू दिशा-निर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा। इन आदेशों के उल्लंघन करते पाये जाने पर संबंधित व्यक्ति, दुकानदार, संचालक के विरूद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51-60 एवं भारतीय दण्ड विधान की धारा 188 के प्रावधानों के अन्तर्गत दण्डात्मक कार्रवाई की जायेगी। मामले में एफआईआर भी दर्ज किया जा सकेगा। जिले के सभी एसडीओ, एसडीपीओ, बीडीओ, सीओ, एसएचओ, नगर परिषद क्षेत्र के कार्यपालक पदाधिकारी व अन्य संबंधित पदाधिकारियों को आदेश की प्रति भेजकर निदेशों का कठोरता से अनुपालन कराने को निर्देश दिया गया है। व्यापारिक व वाणिज्यिक गतिविधियों में छूट देने के साथ कोविड-19 गाईडलाइन के पालन को लेकर सख्ती बरतने को सलाह दी गयी है।

संबंधित खबरें