Now government premises will be strewn with green trees and plants - अब हरे-भरे पेड़-पौधों से लहलहाएंगे सरकारी परिसर DA Image
12 दिसंबर, 2019|4:24|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब हरे-भरे पेड़-पौधों से लहलहाएंगे सरकारी परिसर

default image

जिले के सरकारी परिसर अब हरे-भरे पेड़-पौधों से लहलहाएंगे। सरकारी विभाग, सरकारी जमीन और सरकारी शिक्षण संस्थानों में पौधे लगाकर हरियाली लाने की कवायद शुरू होने वाली है। इसको लेकर समाहरणालय स्थित डीएम कार्यालय कक्ष में डीएम कौशल कुमार की अध्यक्षता में जल जीवन हरियाली कार्यक्रम की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी।

इस दौरान अगामी वित्तीय वर्ष 2020-21 में जल जीवन हरियाली कार्यक्रम के तहत पौधरोपण कार्यक्रम को सफल बनाने पर विशेष चर्चा की गयी। डीएम ने कहा कि आगामी वर्ष में जल जीवन हरियाली कार्यक्रम के तहत पूरे बिहार में 2.51 करोड़ पौधा लगाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने इसके लिए सभी विभाग को निर्देश दिया कि 30 सितम्बर 2019 तक पौधरोपण के योग्य स्थलों की पहचान कर ली जाय, ताकि संभावित कार्य योजना बनाकर मुख्यालय भेजी जा सके। जिले के सभी प्रमुख संस्थान, कार्य विभाग तथा अन्य सरकारी विभागों से रिपोर्ट मांगी गयी है। सरकारी भवन, परिसर, सड़क, रेल, नहर, आहर, पईन, स्कूल, कॉलेज, किसान भवन, कस्तूरबा विद्यालय, थाना, पीएचसी, विद्युत भवन सहित अन्य सरकारी परिसर के किनारे योग्य स्थल पर पौधरोपण करने के लिए सूची तैयार करने को कहा गया है। पौधारोपण के पश्चात् इसकी सुरक्षा की भी पूरी व्यवस्था सुनिश्चित की जानी है। वन विभाग द्वारा सभी विभाग को एक प्रपत्र दिया गया है, जिसमें संभावित कार्य योजना बनाकर 30 सितम्बर तक सूची तैयार कर जमा करने को कहा गया। बैठक में जिला वन प्रमंडल पदाधिकारी अवधेश कुमार ओझा, डीपीआरओ गुप्तेश्वर कुमार, आरडब्लूडी, आरसीडी, आत्मा निदेशक, लघु सिंचाई आदि विभाग के पदाधिकारी आदि उपस्थित थे।

जल जीवन हरियाली योजना को बनाना है सफल

नवादा। जल जीवन हरियाली योजना की तैयारी के लिए शुक्रवार को जिला कृषि कार्यलय शोभिया फॉर्म पर जिला कृषि पदाधिकारी अरविंद कुमार झा की अध्यक्षता में एक बैठक हुई। बैठक में जल जीवन हरियाली योजना अंतर्गत सभी योजना का शत प्रतिशत सफल क्रियान्वयन धरातल पर हो सके इसके लिए जल संरक्षण के विभिन्न उपाय, जैविक खेती, बागवानी, आहर, पैन, तालाब का जीर्णोद्धार, सोख्ता, संरक्षित पानी से कृषि कार्य आदि के बारे में विस्तृत रूप से प्रशिक्षण दिया गया। इस दौरान परियोजना निदेशक आत्मा सह सहायक निदेशक संजय शर्मा, सहायक निदेशक उद्यान शम्भू प्रसाद, अनुमंडल कृषि पदाधिकारी विभूति शरण पाठक, प्रखंड कृषि पदाधिकारी हंस कुमार अचल, भूपिंदर कुमार, दिलीप रजक, बीएचओ परमानंद सिंह, कृषि समन्वयक राजेश रंजन आदि लोग मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Now government premises will be strewn with green trees and plants